निर्धन हूँ लाचार श्याम निर्बल को बल दें भजन लिरिक्स

निर्धन हूँ लाचार श्याम,
निर्बल को बल दें,
ऐ खाटू वाले श्याम,
मेरे हालात बदल दे,
ऐ खाटू वाले श्याम,
मेरे हालात बदल दे।।



सुबह शाम आठो याम,

श्याम तुझे याद करूं,
बैठ के तेरे चरणों में,
फरियाद करूं,
मेरी सेवा भक्ति का,
मुझको कुछ ऐसा फल दे,
ऐ खाटू वाले श्याम,
मेरे हालात बदल दे,
ऐ खाटू वाले श्याम,
मेरे हालात बदल दे।।



हाथ पकड़ लो श्याम,

ये दिल घबराता है,
हारे हुआ का श्याम ही,
साथ निभाता है,
फूल हूँ तेरी बगिया का,
दुनिया ना मसल दे,
ऐ खाटू वाले श्याम,
मेरे हालात बदल दे,
ऐ खाटू वाले श्याम,
मेरे हालात बदल दे।।



तुझ बिन दिल का दर्द,

मैं किसे सुनाऊंगा,
यहां भी जो मैं हारा,
कहां फिर जाऊंगा,
‘विष्णु’ के जीवन को,
श्याम खुशियों के पल दे,
ऐ खाटू वाले श्याम,
मेरे हालात बदल दे,
ऐ खाटू वाले श्याम,
मेरे हालात बदल दे।।



निर्धन हूँ लाचार श्याम,

निर्बल को बल दें,
ऐ खाटू वाले श्याम,
मेरे हालात बदल दे,
ऐ खाटू वाले श्याम,
मेरे हालात बदल दे।।

गायक – विष्णु सागर जी।


आपको ये भजन कैसा लगा ? अपने विचार बताएं

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें