निराला शिव भोला देव निराला भजन लिरिक्स

निराला शिव भोला देव निराला,
अमृत देवों को देकर,
जहर को खुद पी डाला,
निरालां शिव भोला देव निराला।।



सर्प बिच्छू श्रृंगार हैं इनके,

माथे चंदा दमके,
नंदी बैल सवारी इनकी,
शीश से गंगा छलके,
बड़ा ही सुंदर लागे भोला,
बाघमबर वाला,
निरालां शिव भोला देव निराला।।



जिनका ना कोई माई बाप है,

न कोई भईया बहना,
ताऊ चाचा मामा मौसा,
फूफा भी कोई है ना,
मुंह बोले ही रिश्तों का,
परिवार बना डाला,
निरालां शिव भोला देव निराला।।



चोर चढ़ा शिव लिंग के ऊपर,

जाऊंगा घंटे लेकर,
प्रगट हुए जब शिव शंकर,
सहम गया वो डर कर,
देख समर्पण भोले ने,
धनवान बना डाला,
निरालां शिव भोला देव निराला।।



जल के इक लोटे से ही,

शिव जी खुश हो जाते,
दीन भाव से जो भी,
इनके द्वारे पे आ जाते,
‘श्याम’ बड़ा है दयालु भोला,
भक्तों का रखवाला,
निरालां शिव भोला देव निराला।।



निराला शिव भोला देव निराला,

अमृत देवों को देकर,
जहर को खुद पी डाला,
निरालां शिव भोला देव निराला।।

लेख एवं स्वर – घनश्याम मिढ़ा।
भिवानी, मोबाइल – 9034121523


इस भजन को शेयर करे:

सम्बंधित भजन भी देखें -

दौड़ा जाये रे समय का घोडा शिव शिव रट ले रे बन्दे भजन लिरिक्स

दौड़ा जाये रे समय का घोडा शिव शिव रट ले रे बन्दे भजन लिरिक्स

दौड़ा जाये रे समय का घोडा, श्लोक – विघ्न हरण गौरी के नंदन, सुमिर सदा सुखदाई रे, तुलसीदास जो गणपति सुमिरे, कोटि विघ्न टल जाई रे। दौड़ा जाए रे समय…

शिवनाथ तेरी महिमा जब तीन लोक गाये भजन लिरिक्स

शिवनाथ तेरी महिमा जब तीन लोक गाये भजन लिरिक्स

शिवनाथ तेरी महिमा आ आ, शिव नाथ तेरी महिमा, जब तीन लोक गाये, नाचे धरा गगन तो आ आ, नाचे धरा गगन तो, झूमें दसो दिशाएँ, शिव नाथ तेरी महिमा,…

मस्त महीना सावन का यह आया है भजन लिरिक्स

मस्त महीना सावन का यह आया है भजन लिरिक्स

मस्त महीना सावन का यह आया है, शिवरात्रि त्यौहार भी पावन लाया है, शिव जटाओं से निकली मां गंगा के, पावन जल से शिवजी को नहलाया है।। तर्ज – दूल्हे…

Bhajan Lover / Singer / Writer / Web Designer & Blogger.

Leave a Comment

error: कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इंस्टाल करे