प्रथम पेज कृष्ण भजन नीले पे होके सवार आया रे श्याम भजन लिरिक्स

नीले पे होके सवार आया रे श्याम भजन लिरिक्स

नीले पे होके सवार आया रे,

नाचे भगत तेरे सांवरे,
नाचे भगत तेरे छम छमा छम छम,
नीले पे होकें सवार आया रे,
बाबा अपने भक्तों के द्वार आया रे।।

तर्ज – पालकी में होके सवार आई।



ज्योत जगाई और ध्यान लगाया,

फिर श्याम बाबा श्याम बाबा,
भक्तों ने गाया,
भक्तों की सुनके पुकार आया रे,
खाटू से देखो ये श्याम आया रे,
नीले पे होकें सवार आया रे,
बाबा अपने भक्तों के द्वार आया रे।।



माथे लगाया प्यारा चन्दन का टिका,

चंदा भी जिसके आगे,
लागे है फीका,
बनड़ा सा बनके ये श्याम आया रे,
भक्तों की सुनके पुकार आया रे,
नीले पे होकें सवार आया रे,
बाबा अपने भक्तों के द्वार आया रे।।



शीश का दानी श्याम कहाया,

भक्तों की खातिर बाबा,
दौड़ा है आया,
‘साहनी’ भी चरणों में दास आया रे,
भक्तों की सुनके पुकार आया रे,
नीले पे होकें सवार आया रे,
बाबा अपने भक्तों के द्वार आया रे।।



नाचे भगत तेरे सांवरे,

नाचे भगत तेरे छम छमा छम छम,
नीले पे होके सवार आया रे,
बाबा अपने भक्तों के द्वार आया रे।।

Singer – Sahani Brothers


कोई टिप्पणी नही

आपको ये भजन कैसा लगा ? अपने विचार बताएं

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें

error: कृपया प्ले स्टोर से \"भजन डायरी\" एप्प डाउनलोड करे।