कन्हैया नहीं जाना की जी ना लगे भजन लिरिक्स

कन्हैया नहीं जाना की जी ना लगे,
साँवरे नहीं जाना की जी ना लगे,
मुरली वाले नहीं जाना,
की जी ना लगे।।

तर्ज – साथिया नहीं जाना की।



गलियाँ गोकुल की सुनी,

पनघट भी होगा सुना,
सुनो साँवरे,
रोएगा ब्रज सारा की,
जी ना लगे,
साँवरे नहीं जाना की जी ना लगे,
मुरली वाले नहीं जाना,
की जी ना लगे।।



मैं तेरी प्रेम दीवानी,

तुझ पर मैं जाऊँ वारि,
सुनो सांवरे,
ये दिल तुझपे हारा की,
जी ना लगे,
साँवरे नहीं जाना की जी ना लगे,
मुरली वाले नहीं जाना,
की जी ना लगे।।



करते हो झूठा वादा,

जानू मैं तेरा इरादा,
सुनो सांवरे,
कहदो नहीं है जाना,
जी ना लगे,
साँवरे नहीं जाना की जी ना लगे,
मुरली वाले नहीं जाना,
की जी ना लगे।।



कन्हैया नहीं जाना की जी ना लगे,

साँवरे नहीं जाना की जी ना लगे,
मुरली वाले नहीं जाना,
की जी ना लगे।।


आपको ये भजन कैसा लगा ? अपने विचार बताएं

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें