प्रथम पेज फिल्मी तर्ज भजन मुझे कोख में ना मारो मेरे पापा पाप होगा लिरिक्स

मुझे कोख में ना मारो मेरे पापा पाप होगा लिरिक्स

मुझे कोख में ना मारो,
मेरे पापा पाप होगा,
मेरे पापा मेरे पापा,
मेरे पापा मेरे पापा।।

तर्ज – तू जहाँ जहाँ चलेगा।



बचपन नहीं है देखा,

गुडियो सी नाही खेली,
माँ की सुनी ना लोरी,
सखियाँ है ना सहेली,
सोचो जरा विचारो,
मेरे पापा पाप होगा,
मेरे पापा मेरे पापा,
मेरे पापा मेरे पापा।।



जैसे भी तुम रखोगे,

वैसे ही मैं रहूंगी,
जिद ना करुँगी कोई,
जो कहोगे वो करुँगी,
मुझे दिल से ना उतारो,
मेरे पापा पाप होगा,
मेरे पापा मेरे पापा,
मेरे पापा मेरे पापा।।



बेटी है रूप माँ का,

जिससे हो आप जन्मे,
है मेरे जन्म दाता,
शक ना करो यूँ मन में,
ये कलंक सिर ना धारो,
मेरे पापा पाप होगा,
मेरे पापा मेरे पापा,
मेरे पापा मेरे पापा।।



बेटी बाप बनकर,

यह फ़र्ज भी निभा लो,
कर कन्या दान तुम भी,
ये पूण्य तो कमा लो,
अपना जनम सुधारों,
मेरे पापा पाप होगा,
मेरे पापा मेरे पापा,
मेरे पापा मेरे पापा।।



मुझे कोख में ना मारो,

मेरे पापा पाप होगा,
मेरे पापा मेरे पापा,
मेरे पापा मेरे पापा।।

Singer – Rekha Rao


कोई टिप्पणी नही

आपको ये भजन कैसा लगा? कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इनस्टॉल कीजिये।

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें

error: कृपया प्ले स्टोर से \"भजन डायरी\" एप्प डाउनलोड करे।