म्हारी सीता रो वर राम लाडो फुटरो घणो लिरिक्स

म्हारी सीता रो वर राम,
लाडो फुटरो घणो,
फुटरो घणो रे बालो,
सोवणो घणो,
म्हारी सीता रों वर राम,
लाडो फुटरो घणो।।



शील रो स्वभाव रो तो,

सूझलो घणो,
चांद सूरज भी लाजा मारे,
उजलो घणो,
म्हारी सीता रों वर राम,
लाडो फुटरो घणो।।



मंद मुस्कन सू मुलके बालो,

मीठो ही घणो,
इन बनडा़ री बोली माही,
प्रेम है घणो,
म्हारी सीता रों वर राम,
लाडो फुटरो घणो।।



कोमल कोमल अंग बन्ना को,

फूलिया सू घणो,
बीच सभा में धनवो तोड़यो,
शूरमो घणो,
म्हारी सीता रों वर राम,
लाडो फुटरो घणो।।



छोटा मोटा सब प्राणिया रो,

प्यारो है घणो,
गावे चारों वेद जगत सू,
न्यारो है घणो,
म्हारी सीता रों वर राम,
लाडो फुटरो घणो।।



एक बार ही देखया चित में,

चढ़ जावे घणो,
ऐसो कामणगारो बनडो़,
चोखो है घणो,
म्हारी सीता रों वर राम,
लाडो फुटरो घणो।।



म्हारी सीता रो वर राम,

लाडो फुटरो घणो,
फुटरो घणो रे बालो,
सोवणो घणो,
म्हारी सीता रों वर राम,
लाडो फुटरो घणो।।

स्वर – संत श्री सुखराम जी महाराज।
Upload By – Keshav


इस भजन को शेयर करे:

सम्बंधित भजन भी देखें -

अब मंदिर बनने लगा है भगवा रंग चढ़ने लगा है लिरिक्स

अब मंदिर बनने लगा है भगवा रंग चढ़ने लगा है लिरिक्स

अब मंदिर बनने लगा है, भगवा रंग चढ़ने लगा है, जब मंदिर बन जाएगा, सोच नजारा क्या होगा, बोल जयकारा जयकारा, बोल जयकारा, सियाराम के नारे होंगे, दर्शन को सारे…

रघुपति राघव राजाराम पतित पावन सीताराम भजन लिरिक्स

रघुपति राघव राजाराम पतित पावन सीताराम भजन लिरिक्स

रघुपति राघव राजाराम, पतित पावन सीताराम, सीताराम सीताराम, भज प्यारे तू सीताराम, रघुपतिं राघव राजाराम, पतित पावन सीताराम।। सुंदर विग्रह मेघ श्याम, गंगा तुलसी शालग्राम, रघुपतिं राघव राजाराम, पतित पावन…

Bhajan Lover / Singer / Writer / Web Designer & Blogger.

Leave a Comment

error: कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इंस्टाल करे