मेरो बाँके बिहारी लाल खेले रंग होली भजन लिरिक्स

मेरो बाँके बिहारी लाल खेले रंग होली,
रंग होली रे गुलाल होली,
मेरो बांके बिहारी लाल खेले रंग होली।।



हाथ लिए कंचन पिचकारी,

खेल रहयो मेरो बाँके बिहारी,
हाथ लिए कंचन पिचकारी,
खेल रहयो मेरो बाँके बिहारी
और झोली भरी गुलाल,
खेले रंग होली,
मेरो बांके बिहारी लाल खेले रंग होली।।



वृन्दावन की है शोभा है न्यारी,

रंग भरे मोहन रँगीली श्यामा प्यारी,
वृन्दावन की है शोभा है न्यारी,
रंग भरे मोहन रँगीली श्यामा प्यारी,
और है रही सखी निहाल,
खेले रंग होली,
मेरो बांके बिहारी लाल खेले रंग होली।।



कुंजन माहि मची है होरी,

जीती श्यामा कुंवर किशोरी,
कुंजन माहि मची है होरी,
जीती श्यामा कुंवर किशोरी,
मेरे कुञ्ज बिहारिन वाल,
खेले रंग होली,
मेरो बांके बिहारी लाल खेले रंग होली।।



होरी है ये रस की रसीली,

रस की रसीली चटक मटकीली,
होरी है ये रस की रसीली,
रस की रसीली चटक मटकीली,
पागल ते चले नही चाल,
खेले रंग होली,
मेरो बांके बिहारी लाल खेले रंग होली।।



मेरो बांके बिहारी लाल खेले रंग होली,

रंग होली रे गुलाल होली,
मेरो बांके बिहारी लाल खेले रंग होली।।

 

आपको ये भजन कैसा लगा ? अपने विचार बताएं

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें