मेरी नाव पड़ी मझधार बड़ी दूर किनारा लिरिक्स

मेरी नाव पड़ी मझधार,
बड़ी दूर किनारा,
तेरे बिन लखदातार,
बता कौन हमारा,
मेरी नाव पडी मझधार,
बड़ी दूर किनारा।bd।

तर्ज – कि दम दा भरोसा यार।



डगमगाए कश्ती गम के,

तूफ़ान छाए है,
जिनका भरोसा था वो,
हो गए पराए है,
कोई सुनता नहीं पुकार,
कई बार पुकारा,
मेरी नाव पडी मझधार,
बड़ी दूर किनारा।bd।



थाम पतवार श्याम,

देर क्यों लगाई है,
तारा है जमाना बारी,
आज मेरी आई है,
तुझे कहता है संसार,
हारे का सहारा,
Bhajan Diary Lyrics,
मेरी नाव पडी मझधार,
बड़ी दूर किनारा।bd।



पल पल निराश किया,

जग की उदासी ने,
द्वार पे पसारा दामन,
‘किशन ब्रजवासी’ ने,
पल में करता भवपार,
ये नाम तुम्हारा,
मेरी नाव पडी मझधार,
बड़ी दूर किनारा।bd।



मेरी नाव पड़ी मझधार,

बड़ी दूर किनारा,
तेरे बिन लखदातार,
बता कौन हमारा,
मेरी नाव पडी मझधार,
बड़ी दूर किनारा।bd।

Singer – Surbhi Chaturvedi


१ टिप्पणी

आपको ये भजन कैसा लगा? कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इनस्टॉल कीजिये।

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें