मेरी कोरी चुनरिया आज श्याम क्यूँ रंग डाला भजन लिरिक्स

मेरी कोरी चुनरिया आज,
श्याम क्यूँ रंग डाला,
रंग डाला रे रंग डाला,
रंग डाला रे रंग डाला,
आई मुझको कितनी लाज,
श्याम क्यूँ रंग डाला।।

तर्ज – तूने अजब रचा भगवान।



करुँगी शिकायत मैं यशोदा से,

करुँगी शिकायत मैं यशोदा से,
दिल वारु सदा तुझे याद,
श्याम क्यूँ रंग डाला,
मेरी कोरी चुनरियाँ आज,
श्याम क्यूँ रंग डाला।।



दहिया में तूने रंग मिलाया,

दहिया में तूने रंग मिलाया,
आये आदत से ना बाज,
श्याम क्यूँ रंग डाला,
मेरी कोरी चुनरियाँ आज,
श्याम क्यूँ रंग डाला।।



भर पिचकारी मारे सर र र,

भर पिचकारी मारे सर र र,
तेरा गलत बड़ा अंदाज,
श्याम क्यूँ रंग डाला,
मेरी कोरी चुनरियाँ आज,
श्याम क्यूँ रंग डाला।।



क्रोध भी आए प्यार भी आए,

क्रोध भी आए प्यार भी आए,
क्या इसमें छिपा है राज,
श्याम क्यूँ रंग डाला,
मेरी कोरी चुनरियाँ आज,
श्याम क्यूँ रंग डाला।।



मेरी कोरी चुनरिया आज,

श्याम क्यूँ रंग डाला,
रंग डाला रे रंग डाला,
रंग डाला रे रंग डाला,
आई मुझको कितनी लाज,
श्याम क्यूँ रंग डाला।।

Singer : Anjali Jain


आपको ये भजन कैसा लगा ? अपने विचार बताएं

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें