मेरे श्याम सांवरे तेरा ही सहारा है भजन लिरिक्स

मेरे श्याम सांवरे,
तेरा ही सहारा है,
मेरी नैया का तू ही किनारा है,
मेरे श्याम साँवरे,
तेरा ही सहारा है।।

तर्ज – अल्लाह ये अदा।



मैं इधर देखूं या उधर देखूं,

तू नजर आए मैं जिधर देखूं,
मेरी अँखियों में, हो,,,
मेरी अँखियों में,
तेरा नजारा है,
मेरे श्याम साँवरे,
तेरा ही सहारा है।।



मेरी बातों में तन्हा रातों में,

श्याम तू ही बसा खयालातों में,
जैसे कोई फलक में सितारा हो,
मेरे श्याम साँवरे,
तेरा ही सहारा है।।



आँखों से छलके अरमा दिल के,

हम है रही तेरी मंजिल के,
तू नहीं है तो, हो,,,
तू नहीं है तो,
सजदा गवारा है,
मेरे श्याम साँवरे,
तेरा ही सहारा है।।



कुछ कर जाए आहे भर जाए,

कृष्ण चौखट पे तेरी मर जाए,
‘ज्योति’ इतना सा, हो,,,
‘ज्योति’ इतना सा,
किस्सा हमारा है,
मेरे श्याम साँवरे,
तेरा ही सहारा है।।



मेरे श्याम सांवरे,

तेरा ही सहारा है,
मेरी नैया का तू ही किनारा है,
मेरे श्याम साँवरे,
तेरा ही सहारा है।।

Singer : Jyoti Chouhan


आपको ये भजन कैसा लगा ? अपने विचार बताएं

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें