मेरे साथ में सांवरा चल रहा है भजन लिरिक्स

मेरे साथ में सांवरा चल रहा है भजन लिरिक्स

मेरे साथ में सांवरा चल रहा है,
राह के कांटे सभी चुन रहा है,
मेरे साथ में साँवरा चल रहा है,
राह के कांटे सभी चुन रहा है,
मेरे साथ बाबा।।

तर्ज – तेरा साथ है तो मुझे क्या।



अपनों ने जबसे किया था किनारा,

अपनों ने जबसे किया था किनारा,
हारा मैं हारा मेरे श्याम हारा,
दर दर की ठोकर खाकर मैं आया,
तुम्ही श्याम हारे को देते सहारा,
मेरे साथ में साँवरा चल रहा है,
राह के कांटे सभी चुन रहा है,
मेरे साथ बाबा।।



जहाँ भी जाऊं तेरा गुण मैं गाउँ,

जहाँ भी जाऊं तेरा गुण मैं गाउँ,
वहाँ पर मैं बाबा तुझे साथ पाऊँ,
तेरे साथ से चल रही जिंदगी है,
अंधेरो में भी मिल रही रौशनी है,
मेरे साथ में साँवरा चल रहा है,
राह के कांटे सभी चुन रहा है,
मेरे साथ बाबा।।



क्या क्या दिया कैसे मैं बताऊँ,

क्या क्या दिया कैसे मैं बताऊँ,
बिगड़े बनाए काम कितने गिनाऊँ,
जब भी पुकारूँ तुझे मेरे बाबा,
दौड़ के आए श्याम देता सहारा,
मेरे साथ में साँवरा चल रहा है,
राह के कांटे सभी चुन रहा है,
मेरे साथ बाबा।।



मेरे साथ में सांवरा चल रहा है,

राह के कांटे सभी चुन रहा है,
मेरे साथ में साँवरा चल रहा है,
राह के कांटे सभी चुन रहा है,
मेरे साथ बाबा।।

Singer – Giriraj Ji Maharishi


आपको ये भजन कैसा लगा ? अपने विचार बताएं

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें