मेरे सांवरे तुम कहाँ छुप गए हो भजन लिरिक्स

मेरे सांवरे तुम,
कहाँ छुप गए हो,
सामने तो आओ,
दरश दिखाओ,
दीवाना बना कर मोहन,
कहाँ खो गए हो,
सामने तो आओ,
यूँ ना सताओ।।

तर्ज – हमें और जीने की।



तुमको पुकारे ये,

बालक तुम्हारा,
मेरी जिंदगी का,
तुम्ही हो सहारा,
कर दो कृपा श्याम,
मुझ पर भी आके,
तूफा मे नैया,
फस गई है जाके,
ना आंखों से ओझल,
हो कर रुलाओ,
सामने तो आओ,
दरश दिखाओ,
दीवाना बना कर मोहन,
कहाँ खो गए हो,
सामने तो आओ,
यूँ ना सताओ।।



नरसी और सुदामा को,

श्याम तुमने तारा,
मीरा की भक्ति को,
तुमने स्वीकारा,
शरण खड़ा मैं श्याम,
कब से हूँ आके,
सेवा में अपनी,
मुझको लगा ले,
‘विशाल’ मेरे मोहन,
तुम बन जाओ,
सामने तो आओ,
दरश दिखाओ,
दीवाना बना कर मोहन,
कहाँ खो गए हो,
सामने तो आओ,
यूँ ना सताओ।।



मेरे सांवरे तुम,

कहाँ छुप गए हो,
सामने तो आओ,
दरश दिखाओ,
दीवाना बना कर मोहन,
कहाँ खो गए हो,
सामने तो आओ,
यूँ ना सताओ।।

गीतकार और गायक – विशाल जोशी।
फोन – 7000839796
श्री श्याम कीर्तन के लिए सम्पर्क करें।
छ्यांकन और निर्देशन – श्री कैलाश तारानी जी।
श्री कृष्ण छवि – कु मेघा जी।


आपको ये भजन कैसा लगा? कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इनस्टॉल कीजिये।

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें