मंदिर को सजाया तेरे वास्ते श्याम आ जाओ ना

मंदिर को सजाया तेरे वास्ते,
श्याम आ जाओ ना,
श्याम आ जाओ ना।
तेरे प्यारे भक्तो के ही वास्ते,
श्याम आ जाओ ना,
श्याम आ जाओ ना।।

तर्ज – काहे को बुलाया मुझे बालमा।



मुरली बजा जा तू,

धुन वो सुना जा तू,
ऐ मेरे मोहना, हो..
घायल मनवा तड़पे मोरा,
व्याकुल है दोनो नैना,
तेरे बिन सूना मोरा अंगना,
श्याम आ जाओ ना,
श्याम आ जाओ ना।।



हमको सताए क्यो,

ये न बताए क्यो,
हमने तेरा क्या किया, हो..
एक झलक माँगी थी तुझसे,
फिर क्यो हमसे दूर हुआ,
हमको यूँ सताओ प्रभू और ना,
श्याम आ जाओ ना,
श्याम आ जाओ ना।।



रस्ता निहारुँ मै,

राह बुहारूँ मै,
तेरे लिए हे प्रभू, हो..
शवरी जैसे बैर नही और,
मीरा के जैसे घुँघृरू,
बनके राम मेरे भी घर पाओना,
श्याम आ जाओ ना,
श्याम आ जाओ ना।।



मंदिर को सजाया तेरे वास्ते,

श्याम आ जाओ ना,
श्याम आ जाओ ना।
तेरे प्यारे भक्तो के ही वास्ते,
श्याम आ जाओ ना,
श्याम आ जाओ ना।।

– भजन लेखक एवं प्रेषक –
शिवनारायण वर्मा,
मोबा.न.8818932923

वीडियो अभी उपलब्ध नहीं।


 

आपको ये भजन कैसा लगा ? अपने विचार बताएं

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें