मुल कित्ती महनता दा पवाई मेरे दातेया भजन लिरिक्स

मुल कित्ती महनता दा,
पवाई मेरे दातेया,
औकात विच रहणा,
तू सिखाई मेरे दातेया।।



मिले जो वी मैनु ओदा,

शुक्र मनावा मैं,
दुख विच याद करा,
सुख च ना भुलावा मैं,
हर वेले नाम तू,
जपाई मेरे दातेया,
औकात विच रहणा,
तू सिखाई मेरे दातेया।।



होवे भावे उच्चा रुतबा,

करां ना गुमान मैं,
नीवा बन जीवां सबदा,
करां सम्मान मैं,
सच दी तू राह ते,
चलाई मेरे दातेया,
औकात विच रहणा,
तू सिखाई मेरे दातेया।।



नेकियां दी राह चल्ला,

हक दा ही खावा मैं,
बोल मिट्ठे बोला किसदा,
दिल ना दुखावा मैं,
रूखी चाहे मिस्सी,
तू खवाई मेरे दातेया,
औकात विच रहणा,
तू सिखाई मेरे दातेया।।



मुल कित्ती महनता दा,

पवाई मेरे दातेया,
औकात विच रहणा,
तू सिखाई मेरे दातेया।।

Singer – Jatinder Sharma
Lyrics / Uploader – Nitin Diwan
8700703133


आपको ये भजन कैसा लगा? कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इनस्टॉल कीजिये।

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें