मिन्दर में अरज सुनावा माजीसा म्हारे आंगने पधारो लिरिक्स

मिन्दर में अरज सुनावा,
माजीसा म्हारे आंगने पधारो,
मिन्दर मे अरज सुनावा,
माजीसा म्हारे आंगने पधारो,
आंगने पधारो मैया काज सवारो,
आंगने पधारो मैया काज सवारो,
चरना मे शिश नमावा,
माजीसा म्हारे आंगने पधारो,
चरना मे शिश नमावा,
माजीसा म्हारे आंगने पधारो।।



गाँव जोगीदा थारो जन्म कहावे,

गाँव जोगीदा थारो जन्म कहावे,
जोगराज सिंहजी थारा पिता कहलावे,
जोगराज सिंहजी थारा पिता कहलावे,
कुंकुम रा छांटा बरसाया,
माजीसा म्हारे आंगने पधारो,
कुंकुम रा छांटा बरसाया,
माजीसा म्हारे आंगने पधारो।।



जग में कहावे माता रानी भटियाणी,

जग में कहावे माता रानी भटियाणी,
गढ रे जसोल वाली मोटी धनीयाणी,
गढ रे जसोल वाली मोटी धनीयाणी,
श्रद्धा सु थाने मनावा,
माजीसा म्हारे आंगने पधारो,
श्रद्धा सु थाने मनावा,
माजीसा म्हारे आंगने पधारो।।



मोतीया वाली माता थारा परचा है भारी,

मोतीया वाली माता थारा परचा है भारी,
दर्शन ने आवे थारे नित नर नारी,
दर्शन ने आवे थारे नित नर नारी,
मिन्दर मे ज्योति जगावा,
माजीसा म्हारे आंगने पधारो,
मिन्दर मे ज्योति जगावा,
माजीसा म्हारे आंगने पधारो।।



शंकर दमामी थारो परचो है पायो,

शंकर दमामी थारो परचो है पायो,
पग री पायलडी दीनी दर्श दिखायो,
पग री पायलडी दीनी दर्श दिखायो,
लीला रो पार कोनी पावा,
माजीसा म्हारे आंगने पधारो,
लीला रो पार कोनी पावा,
माजीसा म्हारे आंगने पधारो।।



दास अशोक मैया अरज सुनावे,

दास अशोक मैया अरज सुनावे,
चरना री चाकरी मे सब सुख पावे,
चरना री चाकरी मे सब सुख पावे,
नित थारी किरती सुनावा,
माजीसा म्हारे आंगने पधारो,
नित थारी किरती सुनावा,
माजीसा म्हारे आंगने पधारो।।



मिन्दर में अरज सुनावा,

माजीसा म्हारे आंगने पधारो,
मिन्दर मे अरज सुनावा,
माजीसा म्हारे आंगने पधारो,
आंगने पधारो मैया काज सवारो,
आंगने पधारो मैया काज सवारो,
चरना मे शिश नमावा,
माजीसा म्हारे आंगने पधारो,
चरना मे शिश नमावा,
माजीसा म्हारे आंगने पधारो।।

गायक – प्रकाश माली जी।
प्रेषक – मनीष सीरवी।
(रायपुर जिला पाली राजस्थान)
9640557818


आपको ये भजन कैसा लगा? कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इनस्टॉल कीजिये।

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें