माँ की महिमा जग में अपरम्पार है भजन लिरिक्स

शेरावाली का सजा दरबार है,
माँ की महिमा जग में अपरम्पार है,
अपरम्पार है अपरम्पार है,
शेरावाली का सजा दरबार है,
माँ की महिमा जग मे अपरम्पार है।bd।

तर्ज – काली कमली वाला।



जगजननी तू है दुखहरणी,

माँ तू ही है मंगलकरणी,
तेरे चरणों में सारा संसार है,
तेरे चरणों में सारा संसार है,
माँ की महिमा जग मे अपरम्पार है,
शेरावाली का सजा दरबार है,
माँ की महिमा जग मे अपरम्पार है।bd।



जगदम्बा तू भोली भाली,

तेरी महिमा जग से निराली,
मेहरवाली करुणा की भंडार है,
मेहरवाली करुणा की भंडार है,
माँ की महिमा जग मे अपरम्पार है,
शेरावाली का सजा दरबार है,
माँ की महिमा जग मे अपरम्पार है।bd।



जोतावाली तू माँ काली,

करती सबकी तू रखवाली,
तुमसे ही माँ श्रष्टि का आधार है,
तुमसे ही माँ श्रष्टि का आधार है,
माँ की महिमा जग मे अपरम्पार है,
शेरावाली का सजा दरबार है,
माँ की महिमा जग मे अपरम्पार है।bd।



तेरे दरश को मैं हूँ प्यासा,

तुझसे ही माँ मुझको आशा,
दर्शन दोगी तेरा ये इकरार है,
दर्शन दोगी तेरा ये इकरार है,
New Bhajan Diary Lyrics,
माँ की महिमा जग मे अपरम्पार है,
शेरावाली का सजा दरबार है,
माँ की महिमा जग मे अपरम्पार है।bd।



शेरावाली का सजा दरबार है,

माँ की महिमा जग में अपरम्पार है,
अपरम्पार है अपरम्पार है,
शेरावाली का सजा दरबार है,
माँ की महिमा जग मे अपरम्पार है।bd।

Singer – Dhiraj Kant


आपको ये भजन कैसा लगा? कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इनस्टॉल कीजिये।

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें