प्रथम पेज दुर्गा माँ भजन माँ करुणा बरसायेगी माता भजन लिरिक्स

माँ करुणा बरसायेगी माता भजन लिरिक्स

माँ करुणा बरसायेगी,
माँ करुणा बरसाएगी,
माँ की नज़र पड़ जाएगी,
तेरी दुआ रंग लाएगी,
असुवन की तू भेंट चढ़ा,
माँ करुणा बरसाएगी,
माँ करुणा बरसाएगी।।



इनकी दया से श्रष्टि चले,

बिन मर्जी पत्ता ना हिले,
तू काहे घबराता है,
माँ ही भाग्यविधाता है,
बिगड़ी तेरी बनाएगी,
माँ करुणा बरसाएगी,
माँ करुणा बरसाएगी।।



कण कण नूर समाया है,

माँ का हरपल साया है,
बच्चो की तो जान है माँ,
हम सबकी पहचान है माँ,
हमपे ममता लुटाएगी,
माँ करुणा बरसाएगी,
माँ करुणा बरसाएगी।।



मत घबरा माँ के रहते,

वेद पुराण यही कहते,
‘रजनी’ सेवादारी कर,
‘चोखानी’ चल माँ के दर,
अपनी गोद बिठाएगी,
माँ करुणा बरसाएगी,
माँ करुणा बरसाएगी।।



माँ करुणा बरसायेगी,

माँ करुणा बरसाएगी,
माँ की नज़र पड़ जाएगी,
तेरी दुआ रंग लाएगी,
असुवन की तू भेंट चढ़ा,
माँ करुणा बरसाएगी,
माँ करुणा बरसाएगी।।

स्वर – रजनी जी राजस्थानी।


१ टिप्पणी

आपको ये भजन कैसा लगा? कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इनस्टॉल कीजिये।

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें

error: कृपया प्ले स्टोर से \"भजन डायरी\" एप्प डाउनलोड करे।