प्रथम पेज कृष्ण भजन ल्यो हाथा लगाम श्याम थे लीले चढ़के आओ जी भजन लिरिक्स

ल्यो हाथा लगाम श्याम थे लीले चढ़के आओ जी भजन लिरिक्स

ल्यो हाथा लगाम,
श्याम थे लीले चढ़के आओ जी,
भक्तां रो मान बढ़ाओ जी,
ल्यो हाथां लगाम।।

तर्ज – कीर्तन की है रात।



दरबार सजाया हाँ,

भक्तां ने बुलाया हाँ,
श्याम थे आ भी जाओ,
मन में चाव घणो,
बाबा थारे दर्शन को,
दर्शन दे भी जाओ,
ज्योत जगाई श्याम,,
थे ज्योत निरखने आओ जी,
भक्तां रो मान बढ़ाओ जी,
ल्यो हाथां लगाम।।



था बिन है फीको,

दरबार यो थारो,
रंग बरसा भी जाओ,
बरसेलो जद रंग,
थे बाबा आओ,
झलक दिखला भी जाओ,
बाट उडीका श्याम,,
आकर म्हाने धीर बंधाओ जी,
भक्तां रो मान बढ़ाओ जी,
ल्यो हाथां लगाम।।



अगवानी में थारे,

भगत खड्या है श्याम,
पलका बिछाय कर,
मनुहार थारी जी,
करस्या म्हे सब मिलकर,
देखो थे आय कर,
बाँध घुँघरू श्याम,,
थे ‘टीकम’ ने नचाओ जी,
भक्तां रो मान बढ़ाओ जी,
ल्यो हाथां लगाम।।



ल्यो हाथा लगाम,

श्याम थे लीले चढ़के आओ जी,
भक्तां रो मान बढ़ाओ जी,
ल्यो हाथां लगाम।।

Singer – Sonu Rastogi


कोई टिप्पणी नही

आपको ये भजन कैसा लगा ? अपने विचार बताएं

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें

error: कृपया प्ले स्टोर से \"भजन डायरी\" एप्प डाउनलोड करे।