लगा दादी चरणों का ध्यान भजन लिरिक्स

लगा दादी चरणों का ध्यान,
लगा दादी चरणो का ध्यान,
अपने बच्चो को देती ये,
अपने बच्चो को देती ये,
मुंह माँगा वरदान,
लगा दादी चरणो का ध्यान,
लगा दादी चरणो का ध्यान।।

तर्ज – भगत के वश में है भगवान।



झुंझनु जाकर देखो,

शरण में आकर देखो,
हाथ ये सिर पर रख दे,
की सिर को झुकाकर देखो,
अगर संकट हो भारी,
तो ध्याकर माँ को देखो,
ये दौड़ी दौड़ी आती,
बुलाकर माँ को देखो,
अमृत की बरसात ये करती,
अमृत की बरसात ये करती,
ऐसी दया-निधान,
लगा दादी चरणो का ध्यान,
लगा दादी चरणो का ध्यान।।



ये धोरा की महारानी,

बना झुंझनु रजधानी,
की स्वर्ण सिंहासन बैठी,
करे सबकी निगरानी,
ये सच्चा न्याय चुकावे,
देख लो अर्जी देकर,
नजर में सेठाणी के,
सभी है एक बराबर,
ऐसी सेठाणी के आगे,
ऐसी सेठाणी के आगे,
झूठी सबकी शान,
लगा दादी चरणो का ध्यान,
लगा दादी चरणो का ध्यान।।



है जितने ज्ञानी ध्यानी,

करे माँ तेरा सुमिरण,
वो दादी दादी जपते,
चरण का करते वंदन,
बने गर सागर स्याही,
कलम वन हो उपवन,
तेरे श्री चरण की महिमा,
का ना हो पूरा वर्णन,
अज्ञानी ‘कैलाशी’ को दे,
अज्ञानी ‘कैलाशी’ को दे,
Bhajan Diary Lyrics,
लगा दादी चरणो का ध्यान,
लगा दादी चरणो का ध्यान।।



लगा दादी चरणों का ध्यान,

लगा दादी चरणो का ध्यान,
अपने बच्चो को देती ये,
अपने बच्चो को देती ये,
मुंह माँगा वरदान,
लगा दादी चरणो का ध्यान,
लगा दादी चरणो का ध्यान।।

Singer – Vikash Sugadh


आपको ये भजन कैसा लगा? कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इनस्टॉल कीजिये।

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें