कुण तो लाया तुम्बडा कुण तो नागर बेल भजन लिरिक्स

कुण तो लाया तुम्बडा,

दोहा – सत संगत आदी घड़ी,
ओर आदी मे पुनिआध,
तुलसी संगत संत री,
कटे कोट अपराध।

कुण तो लाया तुम्बडा,
कुण तो नागर बेल,
कुण तो लाया रे संतो री अमर बेल,
कुण तो लाया रे संतो री अमर बेल।।



अरे शिवजी तो लाया तुम्बडा,

पार्वता नागर बेल,
गोरख जी लाया रे संतो री अमर बेल,
कुन तो लाया तुम्बडा,
कुन तो नागर बेल।।



किन ने दोला तुम्बडा,

किन ने नागर बेल,
किन ने दोला रे संतों री अमर बेल,
कुन तो लाया तुम्बडा,
कुन तो नागर बेल।।



शिवजी ने दोला तुम्बडा,

पार्वता ने नागर बेल,
गोरखजी ने दोला संतो री अमर बेल,
कुन तो लाया तुम्बडा,
कुन तो नागर बेल।।



अरे कटे बवाडु तुम्बडा,

कटे रे नागर बेल,
कटोडे बवाडु संतो री अमर बेल,
कुन तो लाया तुम्बडा,
कुन तो नागर बेल।।



अरे बागे बवाडु तुम्बडा,

बगीचा मे नागर बेल,
भजना मे बावु संतो री अमर बेल,
कुन तो लाया तुम्बडा,
कुन तो नागर बेल।।



अरे किन ती सीचु तुम्बडा,

भई किन ती नागर बेल,
किन ती सीचु रे संतो री अमर बेल,
कुन तो लाया तुम्बडा,
कुन तो नागर बेल।।



अरे घी सु सीचु तुम्बडा,

दूदा सु नागर बेल,
शब्दों ती सीचावु संतो री अमर बेल,
कुन तो लाया तुम्बडा,
कुन तो नागर बेल।।



अरे सुखन लागा तुम्बडा,

कलमीजे नागर बेल,
उपन तो काडे संतो री अमर बेल,
कुन तो लाया तुम्बडा,
कुन तो नागर बेल।।



अरे राजा भरतरी विनती,

सुनो सब चीत लाय,
अमर वेजो रे संतो री अमर बेल,
कुन तो लाया तुम्बडा,
कुन तो नागर बेल।।



कुण तो लाया तुम्बडा,

कुण तो नागर बेल,
कुण तो लाया रे संतो री अमर बेल,
कुण तो लाया रे संतो री अमर बेल।।

स्वर – प्रकाश माली जी।
प्रेषक – मनीष सीरवी
9640557818


इस भजन को शेयर करे:

अन्य भजन भी देखें

तेरे इश्क में प्यारे बदनाम हो चुका हूं भजन लिरिक्स

तेरे इश्क में प्यारे बदनाम हो चुका हूं भजन लिरिक्स

तेरे इश्क में प्यारे, बदनाम हो चुका हूं, बदनाम हो चुका हूं, अब तो दीदार दिखा दे, मैं तेरा हो चुका हूं, तेरें इश्क में प्यारें, बदनाम हो चुका हूं।।…

सैया सतगुरु मन भाया जी देसी भजन लिरिक्स

सैया सतगुरु मन भाया जी देसी भजन लिरिक्स

सैया सतगुरु मन भाया जी, कृपा करी गुरुदेव ने, दर्शन पाया जी।। सोता जीव अज्ञान दशा में, गुरु जी आई जगाया, सोहम शब्द सुनाई, मेरा भरम मिटाया जी, सैयां सतगुरु…

रखो हाथ ढाल तलवार मुठ मजबूती धरदे रे जगदम्बा

रखो हाथ ढाल तलवार मुठ मजबूती धरदे रे जगदम्बा

रखो हाथ ढाल तलवार मुठ मजबूती, मुठ मजबूती ए धरदे रे जगदम्बा, राजपूतों में मजबूती, ए धरदे रे जगदम्बा, राजपूतों मे मजबूती।। ए ओ मै सबसे पहला मात भवानी, थाने…

Bhajan Lover / Singer / Writer / Web Designer & Blogger.

1 thought on “कुण तो लाया तुम्बडा कुण तो नागर बेल भजन लिरिक्स”

Leave a Comment

error: कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इंस्टाल करे