प्रथम पेज दुर्गा माँ भजन कुलदेवी की पूजा जो करता है दिन रात भजन लिरिक्स

कुलदेवी की पूजा जो करता है दिन रात भजन लिरिक्स

कुलदेवी की पूजा,
जो करता है दिन रात,
उसके जीवन में होती है,
खुशियों की बरसात।।

तर्ज – सावन का महीना।



हर एक भगत की,

कुलदेवी होती है,
जिसके ही नाम से जलती,
घर में ये ज्योति है,
दुनिया पीछे चलती,
जब कुलदेवी हो साथ,
उसके जीवन में होती है,
खुशियों की बरसात।।



मैया कृपालु है ये,

बड़ी भोली भाली,
यही तो है माँ गौरा,
यही है माँ काली,
रूप अनेको पूजो,
पर कुलदेवी के साथ,
उसके जीवन में होती है,
खुशियों की बरसात।।



मेरी गढ़ी महासर मैया,

साथ मेरे चलती,
भूल जाए उनको गर हम,
ये हमारी गलती,
‘मित्तल’ हरदम तो,
मैया ही रहती साथ,
उसके जीवन में होती है,
खुशियों की बरसात।।



कुलदेवी की पूजा,

जो करता है दिन रात,
उसके जीवन में होती है,
खुशियों की बरसात।।

स्वर – कन्हैया मित्तल जी।


कोई टिप्पणी नही

आपको ये भजन कैसा लगा ? अपने विचार बताएं

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें

error: कृपया प्ले स्टोर से \"भजन डायरी\" एप्प डाउनलोड करे।