प्रथम पेज हरियाणवी भजन कित सी जगा बैठे भोले ऊँचे नीचे पहाड़ा में लिरिक्स

कित सी जगा बैठे भोले ऊँचे नीचे पहाड़ा में लिरिक्स

कित सी जगा बैठे भोले,
ऊँचे नीचे पहाड़ा में,
लॉकडाउन ने बदली स्थिति,
भूल गया तो सारे ने।।



बदला जमाना मरते दम तक,

भगत तेरे ना रोक पावा से,
एक एक दो दो मिलके ने,
आवण की आस लगावे से,
कर्म धर्म ने मिलकर ने,
लिख बात अखबारों में,
लॉकडाउन ने बदली स्थिति,
भूल गया तो सारे ने।।



गंगा जी में लगाके गोते,

तेरी कावड़ लावे से,
कोई पैदल कोई रेस लगाकर,
बम बम भोले गावे से,
कित की कावड़ आवे भोले,
ईस चिंता ना खाया में,
लॉकडाउन ने बदली स्थिति,
भूल गया तो सारे ने।।



मंडी आले सोनू ने,

भोले तेरी याद सतावे से,
अजय मोखरे आला भी भोले,
तेरे दर्शन चावे से,
तेरे भक्ता ने मिलकर ने तो,
ढूंढे बीच बाजार में,
लॉकडाउन ने बदली स्थिति,
भूल गया तो सारे ने।।



कित सी जगा बैठे भोले,

ऊँचे नीचे पहाड़ा में,
लॉकडाउन ने बदली स्थिति,
भूल गया तो सारे ने।।

Singer Upload – Sonu Mandi
Contact – 8930051275


कोई टिप्पणी नही

आपको ये भजन कैसा लगा? कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इनस्टॉल कीजिये।

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें

error: कृपया प्ले स्टोर से \"भजन डायरी\" एप्प डाउनलोड करे।