खाटू सी नगरी हो श्याम भजन लिरिक्स

खाटू सी नगरी हो,

नगरी हो सीकर सी,
खाटू सा नजारा हो,
हो मोड़ वो रींगस का,
बस श्याम हमारा हो।।



हो हाथ निशान मेरे,

हारे के सहारे का,
मुझे दास बना लो श्याम,
सेवक हूँ तेरे दर का,
संकट मिट जाते है,
बस साथ तुम्हारा हो,
हो मोड़ वो रींगस का,
बस श्याम हमारा हो।।



ग्यारस की रात को मैं,

कीर्तन करवाऊंगा,
घर आ जाए आप प्रभु,
जी भर के खिलाऊंगा,
हारे के सहारे का,
अंदाज निराला हो,
हो मोड़ वो रींगस का,
बस श्याम हमारा हो।।



आ जाए कोई तेरे दर,

खाली नहीं जाता है,
जो मन में ठान लिया,
वह सब मिल जाता है,
कहता है ‘सचिन’ सुन लो,
विश्वास हमारा हो,
हो मोड़ वो रींगस का,
बस श्याम हमारा हो।।



खाटू सी नगरी हो,

खाटू सा नजारा हो,
हो मोड़ वो रींगस का,
बस श्याम हमारा हो।।

गायक / प्रेषक – सचिन निगम।
बाराबंकी 8756825076


इस भजन को शेयर करे:

अन्य भजन भी देखें

सांवरियो बैठ्यो रे जो लेणो है सो मांग ले भजन लिरिक्स

सांवरियो बैठ्यो रे जो लेणो है सो मांग ले भजन लिरिक्स

सांवरियो बैठ्यो रे, जो लेणो है सो मांग ले, सांवरियो बैठ्यो रे।। श्लोक  प्यार मिला बाबा का, कैसे मैं कुछ नही जानू, जो कुछ भी पाया है मेने, इसकी कृपा…

तेरा साथी खाटू वाला है भजन लिरिक्स

तेरा साथी खाटू वाला है भजन लिरिक्स

दुनिया चाहे जो भी बोले, बिल्कुल ना घबराना, रख सच्चा विश्वास हृदय में, आगे बढ़ते जाना, तेरा साथी खाटू वाला है, तेरा साथी खाटू वाला हैं।। तर्ज – मिलने की…

प्रेम के वश गोपाला है प्रेम का पंत निराला है भजन लिरिक्स

प्रेम के वश गोपाला है प्रेम का पंत निराला है भजन लिरिक्स

प्रेम के वश गोपाला है, प्रेम का पंत निराला है।। हरि की लीला प्रेम का सागर, प्रेम से रीझे गिरिधर नागर, प्रेम ही अमृत प्याला है, प्रेम का पंत निराला…

Bhajan Lover / Singer / Writer / Web Designer & Blogger.

Leave a Comment

error: कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इंस्टाल करे