कठे गया म्हारा कालूराम जी पूछन लागी गली गली

बिन माली कुमलावे बगीचों,
रूदन मचावे कली कली,
कठे गया म्हारा कालूराम जी,
पूछन लागी गली गली।।



जन्म भूमि बिखरनीया माई,

परिहारा घर जन्म लियो,
पंडित पोथी बाछ सुनाई,
कालूराम जी नाम मिलीयो,
जीवन भर को साथ निभावे,
भगवती देवी सी नार मिली,
कठे गया म्हारा कालुराम जी,
पूछन लागी गली गली।।



आंगन माई फूल खिल्या है,

शुभम्, क्रिश, मोहित खडा़,
तीन बहना री जोडी मिलगी,
बाग सरावे सभी जना,
थाकी याद मे नदियाँ बनगी,
दादा म्हारी आँखडली,
कठे गया म्हारा कालुराम जी,
पूछन लागी गली गली।।



सब भाया री भुजा टूटगी,

बिछड़ गई जोडी़ माँ की,
तीनो बहना कुरलावे बीरा,
मुलके बाधा लाराकी,
कुण अब माता लाड लडावे,
कुण ओडासी चुनडली,
कठे गया म्हारा कालुराम जी,
पूछन लागी गली गली।।



पोल भी सुनी आंगन सुनो,

जीभा मे कोई चाव नही,
मन का माया रूका छाया,
बडा़ बुढा की बात सही,
यमराज को हुक्म होयो जद,
घर का की ना एक चली,
कठे गया म्हारा कालुराम जी,
पूछन लागी गली गली।।



ससुराल मिरगा नेडी मे,

सबका ही थे लाडकडा,
जद भी आता कालू जमाई सा,
सेवा में सब रेता खड़ा,
बहना री सब खुशीयां लुटगी,
कर्म लिखीयोडी नही टली,
कठे गया म्हारा कालुराम जी,
पूछन लागी गली गली।।



दादा बिना कलाकार बिलखता,

सारा राजस्थान रा,
आप बिना अब कुछ न भावे,
खान पान सम्मान सा,
सुर सरंगी टूट गई अब,
रेगी आपकी यादडली,
कठे गया म्हारा कालुराम जी,
पूछन लागी गली गली।।



आप बिराज्या जा स्वर्गा मे,

याद सतावे घणी घणी,
लिजो सम्भालो टाबर आयो,
अरज करे है “मालूनी”,
उड गया भंवरा रोती रेगी,
बागा री आ कली कली,
कठे गया म्हारा कालुराम जी,
पूछन लागी गली गली।।



बिन माली कुमलावे बगीचों,

रूदन मचावे कली कली,
कठे गया म्हारा कालूराम जी,
पूछन लागी गली गली।।



प्रभूलिन भजन सम्राट कालूराम जी बिखरनिया को,

भजन डायरी की ओर से विनम्र श्रद्धांजलि।
शत् शत् नमन?? ओम् शांति? ओम्??।

गायक – राजु मेवाड़ी,अर्जुन राणा।
लेखक – रामकुमार जी मालुनि।
प्रेषक – मनीष सीरवी।
(रायपुर जिला पाली राजस्थान)
9640557818


https://youtu.be/jQZ9esCSrM4

इस भजन को शेयर करे:

अन्य भजन भी देखें

बेगा आवो जी गजानंद रमता आवो जी भजन लिरिक्स

बेगा आवो जी गजानंद रमता आवो जी भजन लिरिक्स

बेगा आवो जी गजानंद, रमता आवो जी, देवा जागण भारी जगावाजी, थे बेगा आवोजी।। रणत भँवर सु आवो, संग रिधिया सीदीया लावो, रणत भँवर सु आवो, संग रिधिया सीदीया लावो,…

गाँजो छोड़ दो म्हारा भोला लहरी छोड़ जाउंगी लिरिक्स

गाँजो छोड़ दो म्हारा भोला लहरी छोड़ जाउंगी लिरिक्स

गाँजो छोड़ दो म्हारा भोला लहरी, छोड़ जाउंगी रे गाँजो छोड़ दो।। रोज-रोज थे गाँजो पीओ, भूत चूड़ेलयां घणी नचाओ, अर अर म्हारी मावड़ली न जार, म्हे तो कहे दूंगी…

सतगुरु आया बिणजारा रे मनवा भजन लिरिक्स

सतगुरु आया बिणजारा रे मनवा भजन लिरिक्स

सतगुरु आया बिणजारा रे मनवा, दोहा: सतगुरु आवत देखीया, जारे लारे लाल बंदूक, गोली दागी हरी नाम री, भाग गया यमदूत। सतगुरु आया बिणजारा रे मनवा, सतगुरु आया बिन्जारा रे,…

रोहित दास जी महा तपधारी भजन लिरिक्स

रोहित दास जी महा तपधारी भजन लिरिक्स

रोहित दास जी महा तपधारी, दोहा – बिलाडो हद सोवनो, जटे हुआ तपस्वी दिवान, कठोर तपस्या रोहित दास की, प्रगट भयी श्री आई मात। रोहित दास जी महा तपधारी, आई…

Bhajan Lover / Singer / Writer / Web Designer & Blogger.

Leave a Comment

error: कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इंस्टाल करे