करते है बाबा तेरा हर पल शुक्रिया भजन लिरिक्स

करते है बाबा,
तेरा हर पल शुक्रिया,
खुशियां जो दी है,
उसका भी शुक्रिया,
हम तेरा दिया खाएं,
तेरा ही गुण गाएं,
जीवन दिया जो,
उसका भी शुक्रिया,
करते हैं बाबा,
तेरा हर पल शुक्रिया,
खुशियां जो दी है,
उसका भी शुक्रिया।।



जब से है देखि,

तेरी ये मूरत,
दिल में उतर गई,
बस तेरी सूरत,
तेरा दर्शन मुझे मिला,
मुरझाया फूल खिला,
नजरें जो दी है,
उसका भी शुक्रिया,
करते हैं बाबा,
तेरा हर पल शुक्रिया,
खुशियां जो दी है,
उसका भी शुक्रिया।।



हर पल जुबां पे,

नाम हो तेरा,
तेरा गुणगान करना,
काम हो मेरा,
तेरा सुमिरन सदा करुं,
तेरा ही ध्यान धरुं,
वाणी जो दी है,
उसका भी शुक्रिया,
करते हैं बाबा,
तेरा हर पल शुक्रिया,
खुशियां जो दी है,
उसका भी शुक्रिया।।



तेरी कृपा से

लगन ये लगी है,
सोई हुई,
तकदीर जगी है,
तेरी भक्ति मुझे मिली,
जीवन को राह मिली,
भक्ति जो दी है,
उसका भी शुक्रिया,
करते हैं बाबा,
तेरा हर पल शुक्रिया,
खुशियां जो दी है,
उसका भी शुक्रिया।।



हाथों से मेरे,

ना कोई गुनाह हो,
कदमों के तेरे दर पे,
चलने की चाह हो,
कहता ‘रोमी’ कान्हा,
तुम्हे अपना है माना,
स्वासें जो दी है,
उसका भी शुक्रिया,
करते हैं बाबा,
तेरा हर पल शुक्रिया,
खुशियां जो दी है,
उसका भी शुक्रिया।।



करते है बाबा,

तेरा हर पल शुक्रिया,
खुशियां जो दी है,
उसका भी शुक्रिया,
हम तेरा दिया खाएं,
तेरा ही गुण गाएं,
जीवन दिया जो,
उसका भी शुक्रिया,
करते हैं बाबा,
तेरा हर पल शुक्रिया,
खुशियां जो दी है,
उसका भी शुक्रिया।।

गायक – सरदार रोमी जी।


इस भजन को शेयर करे:

अन्य भजन भी देखें

बाबा सुनेगा तेरी दिल खोल के सुना ले रे लिरिक्स

बाबा सुनेगा तेरी दिल खोल के सुना ले रे लिरिक्स

बाबा सुनेगा तेरी, दिल खोल के सुना ले रे, होजा तू सांवरे का, वो ही तुझे संभाले, बाबा सुनेगा तेरी।bd। तर्ज – ओ दूर के मुसाफिर। क्यों है उदास पगले,…

झूलो कदम की डाल पडियो जी कोई झूलों नंदलाल लिरिक्स

झूलो कदम की डाल पडियो जी कोई झूलों नंदलाल लिरिक्स

झूलो कदम की डाल, पडियो जी कोई झूलों नंदलाल, झूलो झुलावा जी, कान्हा तने चाव सु।। सावण सुरंगो प्यारो लागे जी, म्हारा नंद जी रा लाल, म्हारा मदन गोपाल, झूलो…

मेरे बाबा की ज्योत जहाँ भी जले भजन लिरिक्स

मेरे बाबा की ज्योत जहाँ भी जले भजन लिरिक्स

मेरे बाबा की ज्योत जहाँ भी जले, हर जगह खाटू जैसी मस्ती मिले।। बैठता सांवरा सज के दरबार में, ना कमी कोई करता है ये प्यार में, ख़ासियत है यही…

मेरी बिगड़ी कौन बनाये मेरा संकट कौन मिटाये भजन लिरिक्स

मेरी बिगड़ी कौन बनाये मेरा संकट कौन मिटाये भजन लिरिक्स

मेरी बिगड़ी कौन बनाये, मेरा संकट कौन मिटाये, तेरे सिवा ना कोई दूजा, जाऊं मैं किसके द्वारे, मेरी बिगड़ी कौन बनाए, मेरा संकट कौन मिटाए।। मांगने लायक करम किये ना,…

Bhajan Lover / Singer / Writer / Web Designer & Blogger.

Leave a Comment

error: कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इंस्टाल करे