कर्म है बुरे बुरे और तुम स्वर्ग जाने की बात करते हो लिरिक्स

कर्म है बुरे बुरे और तुम,
स्वर्ग जाने की बात करते हो,
बोये पेड़ बबूल के और तुम,
आम खाने की बात करते हो।।

तर्ज – आँख है भरी भरी।



जलाया घर किसी का जो,

जलेगा घर तुम्हारा भी,
दु:खाया दिल किसी का जो,
दुखेगा दिल तुम्हारा भी,
देकर दुःख औरों को और तुम,
सुख पाने की बात करते हो,
कर्म हैं बुरे बुरे और तुम,
स्वर्ग जाने की बात करते हो।।



जो औरों के लिये सोचे,

बुरा ख़ुद का बुरा होगा,
जो औरों को गिरायेगा,
वो खुद पहले गिरा होगा,
मन में छल भरा-भरा और तुम,
दर्श पाने की बात करते हो,
कर्म हैं बुरे बुरे और तुम,
स्वर्ग जाने की बात करते हो।।



बनाकर वेश साधु का,

कमंडल हाथ में रखकर,
‘सजन’ हरि गुण नहीं गाया,
कभी विषयो में यूं फसकर,
वासना भरी भरी और तुम,
मुक्ति पाने की बात करते हो,
कर्म हैं बुरे बुरे और तुम,
स्वर्ग जाने की बात करते हो।।



करम की है गति न्यारी,

करम परिणाम है न्यारा,
करम न छोड़ता पीछा,
करम से हर कोई हारा,
कर्म फल भोगे बिना और तुम,
तैर जाने की बात करते हो,
कर्म हैं बुरे बुरे और तुम,
स्वर्ग जाने की बात करते हो।।



कर्म है बुरे बुरे और तुम,

स्वर्ग जाने की बात करते हो,
बोये पेड़ बबूल के और तुम,
आम खाने की बात करते हो।।

लेखक / प्रेषक – डॉ एस. एस. सोलंकी।
9111337188


इस भजन को शेयर करे:

सम्बंधित भजन भी देखें -

कैसी प्रभु तूने कायनात बांधी भजन लिरिक्स

कैसी प्रभु तूने कायनात बांधी भजन लिरिक्स

कैसी प्रभु तूने कायनात बांधी, एक दिन के पीछे एक रात बांधी।। कभी थकते नहीं हैं वो घोड़े, तूने सूरज के रथ में जो जोड़े, रजनी ब्याहने चला चांद दूल्हा…

संदेसा आ गया यम का चलन की कर तैयारी है भजन लिरिक्स

संदेसा आ गया यम का चलन की कर तैयारी है भजन लिरिक्स

संदेसा आ गया यम का, चलन की कर तैयारी है।। बाल सिर के हुए धोले, सफेदी आँख पर छाई, कान से हो गया बेहरा, दाँत हिलना भी जारी है, संदेसा…

मंदिर में आऊंगा दर्शन मैं पाऊंगा शनिदेव भजन लिरिक्स

मंदिर में आऊंगा दर्शन मैं पाऊंगा शनिदेव भजन लिरिक्स

मंदिर में आऊंगा, दर्शन मैं पाऊंगा, शीश झुकाके मैं, तुमको मनाऊंगा, मैं हूँ पूजारी प्रभु आपका, ओ मेरे बाबा शनि जी, हम है पुजारी शनि आपके, ओ मेरे बाबा शनि…

हरी भजलो हरी भजलो हरी भजने का मौका है लिरिक्स

हरी भजलो हरी भजलो हरी भजने का मौका है लिरिक्स

हरी भजलो हरी भजलो, हरी भजने का मौका है, अभी भजलो सभी भजलो, अभी भजने का मौका है, हरी भजलों हरी भजलों, हरी भजने का मौका है।। जतन करके रटन…

Bhajan Lover / Singer / Writer / Web Designer & Blogger.

Leave a Comment

error: कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इंस्टाल करे