प्रथम पेज शिवजी भजन कैलाश शिखर से उतर कर मेरे घर आए है भोले शंकर लिरिक्स

कैलाश शिखर से उतर कर मेरे घर आए है भोले शंकर लिरिक्स

कैलाश शिखर से उतर कर,
मेरे घर आए है भोले शंकर।।

तर्ज – मनिहारी का भेष बनाया।



आ गए है प्रभु गौरा मैया के संग,

आ गए है प्रभु गौरा मैया के संग,
मनभावन रूप ये धर कर,
मेरे घर आए है भोले शंकर,
कैंलाश शिखर से उतर कर,
मेरे घर आए है भोले शंकर।।



पुत्र कार्तिक गणेश भी संग आए है,

पुत्र कार्तिक गणेश भी संग आए है,
रिद्धि सिद्धि को साथ में ले कर,
मेरे घर आए है भोले शंकर,
कैंलाश शिखर से उतर कर,
मेरे घर आए है भोले शंकर।।



थाल तुम आरती का सजाओ सखी,

थाल तुम आरती का सजाओ सखी,
सभी मंगल गाओ मिल कर,
मेरे घर आए है भोले शंकर,
कैंलाश शिखर से उतर कर,
मेरे घर आए है भोले शंकर।।



आज इच्छा होगी सबके दिल की पूरी,

आज इच्छा होगी सबके दिल की पूरी,
पाएंगे दर्शन जी भर कर,
Bhajan Diary Lyrics,
मेरे घर आए है भोले शंकर,
कैंलाश शिखर से उतर कर,
मेरे घर आए है भोले शंकर।।



कैलाश शिखर से उतर कर,

मेरे घर आए है भोले शंकर।।

Singer – Chetna Shukla


कोई टिप्पणी नही

आपको ये भजन कैसा लगा? कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इनस्टॉल कीजिये।

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें

error: कृपया प्ले स्टोर से \"भजन डायरी\" एप्प डाउनलोड करे।