कदम कदम पर रक्षा करता घर घर करे उजाला भजन लिरिक्स

कदम कदम पर रक्षा करता,
घर घर करे उजाला उजाला,
खाटू वाला खाटू वाला,
ओ लीले घोड़े वाला,
खाटू वाला खाटू वाला,
ओ लीले घोड़े वाला।।



मन मंदिर के वास करो तुम,

दूर करो अंधियारा,
पापों का मेरे नाश करो तुम,
बन कर के रखवारा रखवारा,
खाटू वाला खाटू वाला,
ओ लीले घोड़े वाला।।



जब जब भीड़ पड़ी भक्तो पर,

उनकी विपदा टाली,
सच्चे मन से जो भी पुकारे,
प्रगटे दीनदयाला दयाला,
खाटू वाला खाटू वाला,
ओ लीले घोड़े वाला।।



नेम नियम से जो कोई ध्यावे,

मन की मुरादे पावे,
बिछड़े साथी फिर से मिलाकर,
घर घर प्रेम बढाया बढाया,
खाटू वाला खाटू वाला,
ओ लीले घोड़े वाला।।



भीम सेन के पौत्र लाड़ले,

एहलवती के लाला,
पांडव कुल अवतार श्याम जी,
जपूँ तिहारी माला हो माला,
खाटू वाला खाटू वाला,
ओ लीले घोड़े वाला।।



कदम कदम पर रक्षा करता,

घर घर करे उजाला उजाला,
खाटू वाला खाटू वाला,
ओ लीले घोड़े वाला,
खाटू वाला खाटू वाला,
ओ लीले घोड़े वाला।।

स्वर – संजय मित्तल जी।


आपको ये भजन कैसा लगा? कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इनस्टॉल कीजिये।

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें