जीवन में रंग भर जा आकर के मेरे श्याम भजन लिरिक्स

जीवन में रंग भर जा,
आकर के मेरे श्याम,
बेरंग सी दुनिया मुझे,
करे बदनाम,
बेरंग सी दुनिया मुझे,
करे बदनाम।।

तर्ज – जब तक सांसे चलेगी।



कोरे कोरे से सपने मेरे,

कोरी कोरी सी नींदें भी है,
आके रंगीन कर जाएगा,
दिल को तुझसे उम्मीदें भी है,
जीवन मे रंग भर जा,
आकर के मेरे श्याम,
बेरंग सी दुनिया मुझे,
करे बदनाम,
बेरंग सी दुनिया मुझे,
करे बदनाम।।



शाख से जैसे पत्ते गिरे,

लोग वैसे बिखरने लगे,
कल जो हर बात पर साथ थे,
आज वो भी मुकरने लगे,
जीवन मे रंग भर जा,
आकर के मेरे श्याम,
बेरंग सी दुनिया मुझे,
करे बदनाम,
बेरंग सी दुनिया मुझे,
करे बदनाम।।



मेरे सपनों को पूरा किया,

‘विक्की’ कुछ ना मुझे चाहिए,
और भी खाली है जिंदगी,
कान्हा उसको भी भर जाइये,
जीवन मे रंग भर जा,
आकर के मेरे श्याम,
बेरंग सी दुनिया मुझे,
करे बदनाम,
बेरंग सी दुनिया मुझे,
करे बदनाम।।



जीवन में रंग भर जा,

आकर के मेरे श्याम,
बेरंग सी दुनिया मुझे,
करे बदनाम,
बेरंग सी दुनिया मुझे,
करे बदनाम।।

Singer – Kamal Kanha Sukhwani


आपको ये भजन कैसा लगा? कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इनस्टॉल कीजिये।

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें