जिस देश में जिस भेष में परदेस में रहो लिरिक्स

जिस देश में जिस भेष में परदेस में रहो लिरिक्स

जिस देश में जिस भेष में,
परदेस में रहो,
राधा रमण राधा रमण,
श्री राधा रमण कहो।।

देखे – जब भी नैन मूंदो।



जिस धाम में जिस काम में,

जिस नाम में रहो,
राधा रमण राधा रमण,
श्री राधा रमण कहो।।



जिस रंग में जिस संग में,

जिस ढंग में रहो,
राधा रमण राधा रमण,
श्री राधा रमण कहो।।



जिस ध्यान में जिस ज्ञान में,

परिधान में रहो,
राधा रमण राधा रमण,
श्री राधा रमण कहो।।



जिस हाल में जिस चाल में,

जिस काल में रहो,
राधा रमण राधा रमण,
श्री राधा रमण कहो।।



जिस रोग में जिस भोग में,

जिस योग में रहो,
राधा रमण राधा रमण,
श्री राधा रमण कहो।।



जिस देश में जिस भेष में,

परदेस में रहो
राधा रमण राधा रमण,
श्री राधा रमण कहो।।

Singer – Vikash Kapoor & Pratima Singh


Bhajan Lover / Singer / Writer / Web Designer & Blogger.
error: कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इंस्टाल करे