जन्मे है कृष्ण कन्हाई गोकुल में देखो बाजे बधाई भजन लिरिक्स

जन्मे है कृष्ण कन्हाई गोकुल में देखो बाजे बधाई भजन लिरिक्स

जन्मे है कृष्ण कन्हाई,
गोकुल में देखो बाजे बधाई,
बाजे बधाई देखो बाजे बधाई,
बाजे बधाई देखो बाजे बधाई,
जन्मे हैं कृष्ण कन्हाई,
गोकुल में देखो बाजे बधाई।।

तर्ज – लल्ला की सुन के मैं आई।



यमुना भी धन्य हुई,

छूके चरण को,
लेके वासुदेव चले,
प्यारे ललन को,
वो दिए कान्हा को ब्रज पहुंचाए,
गोकुल में देखो बाजे बधाई,
जन्मे हैं कृष्ण कन्हाई,
गोकुल में देखो बाजे बधाई।।



धन्य हुई ये ब्रजभूमि सारी,

त्रिलोकी नाथ जन्मे कृष्णमुरारी,
ओ सारी नगरी है आज हरषाई,
गोकुल में देखो बाजे बधाई,
जन्मे हैं कृष्ण कन्हाई,
गोकुल में देखो बाजे बधाई।।



अन्न धन लुटावे बाबा,

पायल और छल्ला,
लड्डूवा बटें और पेड़ा,
बर्फी रसगुल्ला,
मैया तो फूली ना समाई,
गोकुल में देखो बाजे बधाई,
जन्मे हैं कृष्ण कन्हाई,
गोकुल में देखो बाजे बधाई।।



दाऊ लुटावे सोना,

चांदी और जेवर,
छाया आनंद आज,
खुशियां है घर घर,
वो देख देख हसते है कन्हाई,
गोकुल में देखो बाजे बधाई,
जन्मे हैं कृष्ण कन्हाई,
गोकुल में देखो बाजे बधाई।।



जन्मे है कृष्ण कन्हाई,

गोकुल में देखो बाजे बधाई,
बाजे बधाई देखो बाजे बधाई,
बाजे बधाई देखो बाजे बधाई,
जन्मे हैं कृष्ण कन्हाई,
गोकुल में देखो बाजे बधाई।।

Singer – Rakesh Kala


आपको ये भजन कैसा लगा ? अपने विचार बताएं

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें