जादूगारी मोरछड़ी का जादू आज दिखा दे भजन लिरिक्स

जादूगारी मोरछड़ी का,
जादू आज दिखा दे,
मेरे झाड़ा लगा दे,
मेरे झाड़ा लगा दे,
जीवन की बगिया ये मेरी,
हाथों से तू सजा दे,
मेरे झाड़ा लगा दे,
मेरे झाड़ा लगा दे।।

तर्ज – ऐसी मस्ती कहाँ मिलेगी।



श्याम बहादुर आलूसिंह जी,

जैसे हम तो नहीं है,
उनके जैसे श्याम हमारे,
कर्म भी अच्छे नहीं है,
फिर भी दया की दौलत बाबा,
मुझ पे आज लुटा दे,
मेरे झाड़ा लगा दे,
मेरे झाड़ा लगा दे।।



मोरछड़ी से कितनो को ही,

जीवन दान मिला है,
सोई किस्मत जाग गई अब,
गोदी में फूल खिला है,
इस कलयुग में ऐसा करिश्मा,
फिर से तू दोहरा दे,
मेरे झाड़ा लगा दे,
मेरे झाड़ा लगा दे।।



मोरछड़ी लहरावे जिसपे,

वो तो है बड़भागी,
उनके हर सुख दुःख में बाबा,
बनता है सह भागी,
‘मोहित’ के सिर पे भी बाबा,
अपनी छड़ी घूमा दे,
Bhajan Diary Lyrics,
मेरे झाड़ा लगा दे,
मेरे झाड़ा लगा दे।।



जादूगारी मोरछड़ी का,

जादू आज दिखा दे,
मेरे झाड़ा लगा दे,
मेरे झाड़ा लगा दे,
जीवन की बगिया ये मेरी,
हाथों से तू सजा दे,
मेरे झाड़ा लगा दे,
मेरे झाड़ा लगा दे।।

Singer – Manish Bhatt


आपको ये भजन कैसा लगा? कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इनस्टॉल कीजिये।

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें