मुझे दिल से क्यों भुलाया रे बता दो रे कन्हैया भजन लिरिक्स

मुझे दिल से क्यों भुलाया रे,
बता दो रे कन्हैया,
कसूर मेरा कसूर मेरा,
कसूर मेरा कसूर मेरा,
मुझे दिल से क्यूँ भुलाया रे।।

तर्ज – बना के क्यों बिगाड़ा रे।



तुमने ने ही तो पहचान मुझे दी,

फिर क्यों मुझे भुलाया रे,
गलती हुई तो मिलकर बता दो,
मुझको क्यों रुलाया रे,
टूट गए क्या सारे रिश्ते,
बता दो रे कन्हैया,
कसूर मेरा कसूर मेरा,
कसूर मेरा कसूर मेरा,
मुझे दिल से क्यूँ भुलाया रे।।



सारा खेल समय का ही है,

मैंने तो तुम पर विश्वास किया,
हारे का साथी इसी उम्मीद पर,
तुझसे मैंने नाता रखा,
फिर क्यों मैं हारा तू क्यों ना सुनता,
बता दो रे कन्हैया,
कसूर मेरा कसूर मेरा,
कसूर मेरा कसूर मेरा,
Bhajan Diary,
मुझे दिल से क्यूँ भुलाया रे।।



‘सुरेश’ पर क्या बीत रही है,

क्या तुम इससे अंजान हो,
सबकुछ जानकार चुप्पी साधे,
क्यों बैठे मेरे श्याम हो,
अब तो आओ गले से लगाओ,
आ जाओ रे कन्हैया,
मुरली वाले बंसी वाले,
मुरली वाले बंसी वाले,
मुझे दिल से क्यूँ भुलाया रे।।



मुझे दिल से क्यों भुलाया रे,

बता दो रे कन्हैया,
कसूर मेरा कसूर मेरा,
कसूर मेरा कसूर मेरा,
मुझे दिल से क्यूँ भुलाया रे।।

Singer – Priya Poddar