जबसे तेरी चौखट पे मैंने सर को झुकाया है भजन लिरिक्स

जबसे तेरी चौखट पे,
मैंने सर को झुकाया है,
मेरा मुरझाया जीवन,
फिर से मुस्काया है,
जबसे तेरी चौंखट पे,
मैंने सर को झुकाया है।bd।

तर्ज – एक आस तुम्हारी है।



मैं हार गया होता,

तेरा साथ जो ना मिलता,

“ऐ कन्हैया,,
इस दुनिया ने हमको,
क्या ना दिखाया,
बदनाम करके,
जगत में हंसाया,
जब सबने ही अपना,
हाथ छुड़ाया,
तूने आकर गले से लगाया”

मैं हार गया होता,
तेरा साथ जो ना मिलता,
मैं किसको सुना पाता,
वो हाल मेरे दिल का,
वो हाल मेरे दिल का,
जबसे तूने मुझको,
सीने से लगाया है,
मेरा मुरझाया जीवन,
फिर से मुस्काया है,
जबसे तेरी चौंखट पे,
मैंने सर को झुकाया है।bd।



जो दिल में बसते थे,

दिल उसने तोड़ दिया,

“श्याम प्यारे,,
देखे है मैंने जग के नज़ारे,
सब मतलब रिश्ते है,
झूठे है सारे,
लगाकर गले से,
खंजर ही मारे,
मैं जी रहा हूँ तेरे सहारे”

जो दिल में बसते थे,
दिल उसने तोड़ दिया,
जो साथ में चलते थे,
मुंह उन ने मोड़ लिया,
जबसे तूने मुझको,
सीने से लगाया है,
मेरा मुरझाया जीवन,
फिर से मुस्काया है,
जबसे तेरी चौंखट पे,
मैंने सर को झुकाया है।bd।



ना कोई तमन्ना थी,

ना कोई सहारा था,

“ऐ कन्हैया,,
भरोसा किया था,
जिस पर भी मैंने,
उसने ही है मेरे,
दिल को दुखाया,
खा खा के ठोकर,
समझा हूँ अब मैं,
एक तू है अपना,
जगत है पराया”

ना कोई तमन्ना थी,
ना कोई सहारा था,
कोई पानी ना पूछे,
ऐसा भी नज़ारा था,
ऐसा भी नज़ारा था,
‘किशोरी दास’ कहे जबसे,
तूने अपना बनाया है,
Bhajan Diary Lyrics,

मेरा मुरझाया जीवन,
फिर से मुस्काया है,
जबसे तेरी चौंखट पे,
मैंने सर को झुकाया है।bd।



जबसे तेरी चौखट पे,

मैंने सर को झुकाया है,
मेरा मुरझाया जीवन,
फिर से मुस्काया है,
जबसे तेरी चौंखट पे,
मैंने सर को झुकाया है।bd।

Singer – Kishori Daas Kanishk Bhaiya


इस भजन को शेयर करे:

अन्य भजन भी देखें

सखी मेरा सांवरिया सरकार भगत के कष्ट मिटाता है लिरिक्स

सखी मेरा सांवरिया सरकार भगत के कष्ट मिटाता है लिरिक्स

सखी मेरा सांवरिया सरकार, भगत के कष्ट मिटाता है, कष्ट मिटाता है, श्याम दुःख दर्द मिटाता है, सखी मेरा मेरा खाटूवाला श्याम, भगत के कष्ट मिटाता है।bd। लगी कचहरी खाटू…

सुण सुण रे म्हारा खाटू वाला धणिया भजन लिरिक्स

सुण सुण रे म्हारा खाटू वाला धणिया भजन लिरिक्स

सुण सुण रे म्हारा खाटू वाला धणिया, फागणिये में म्हाने बुलाई लीजे, चरणा में थारे बिठाय लीजे।। तर्ज – उड़ उड़ रे म्हारा काला। रंग रंगीलो फागण आवे, भक्ता रो…

भूल हुई काई थे कईया रूस्या हो भजन लिरिक्स

भूल हुई काई थे कईया रूस्या हो भजन लिरिक्स

भूल हुई काई, थे कईया रूस्या हो, टेर सुनो सांवल सा म्हारी, कईया सुत्या हो, भूल हुई काईं।। तर्ज – तेरा मेरा सांवरे ऐसा नाता है। घणी मिन्नत करूँ थारी,…

दीवाना राधे का मुरली वाला श्याम भजन लिरिक्स

दीवाना राधे का मुरली वाला श्याम गुजरिया नचले रे भजन लिरिक्स

दीवाना राधे का, दिवाना राधे का, मुरली वाला श्याम, गुजरिया नचले रे, गुजरिया नचले रे, गोवर्धन के नाम, दीवाना राधे का।। राधे राधे जपता है, सखियों से कहता है, प्यारी…

Bhajan Lover / Singer / Writer / Web Designer & Blogger.

Leave a Comment

error: कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इंस्टाल करे