जाटा में एक जाट हुयो जाट तेजल नाम को लिरिक्स

जाटा में एक जाट हुयो,
जाट तेजल नाम को।

दोहा – जाटा में तेजाजी होया,
दूजा धनजी जाट,
तीजी करमा जाटनी,
जाने पूजे युग संसार।

जाटा में एक जाट हुयो,
जाट तेजल नाम को,
गौ रक्षा में प्राण दे दिया,
धिन है चौधरी जाट को।।



ताहङ जी रो लाल भलो रे,

रामप्यारी रो लाडलो,
गौ रक्षा में प्राण दे दिया,
धिन है धरती पुत्र जाट को।।



राजल बाई को भी कहीजे,

पेमल रो भरतार,
गौ रक्षा में प्राण दे दिया,
धिन है धरती पुत्र जाट को।।



जाटा रो सिर मोड़ कहीजे,

लीलण रो असवार,
गौ रक्षा में प्राण दे दिया,
धिन है धरती पुत्र जाट को।।



गोपालसूती भजन बणावे,

छोरो गुजर जात को,
रमेश सारण तो गाय रिझावे,
नहीं है कारण जात को।।



जाटा में एक जाट हुयों,

जाट तेजल नाम को,
गौ रक्षा में प्राण दे दिया,
धिन है चौधरी जाट को।।

गायक / प्रेषक – रमेश सारण बाङमेर
9571547445


आपको ये भजन कैसा लगा ? अपने विचार बताएं

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें