ईन्द्रराजा कद बरसेलो रे राजस्थानी गीत लिरिक्स

ईन्द्रराजा कद बरसेलो रे,
मनडा रो मोरयो,
पिऊ पीऊं बोले दिन रात,
ईन्द्रराजा कद बरसलो रे।।



जेठ असाढा में पड्यो नहीं छाटो,

सावण भादवा में कर बरसात,
ईन्द्रराजा कद बरसलो रे।।



ढांडा ढोर मरे छ तसाया,

गौमाता की सुणले पुकार,
ईन्द्रराजा कद बरसलो रे।।



खेता उबा करसा निहारें,

धरती माता प कर बोछार,
ईन्द्रराजा कद बरसलो रे।।



कूआ बावड़ी सूखा पडग्या,

सरवर भर दे रे जल बरसार,
ईन्द्रराजा कद बरसलो रे।।



छाई घटा बरसे जी पानी,

रमेश प्रजापत यूं लिख गाणी,
हरया बागा में नाचें मन मोर,
ईन्द्रराजा अब बरसेलो रे।।



ईन्द्रराजा कद बरसेलो रे,

मनडा रो मोरयो,
पिऊ पीऊं बोले दिन रात,
ईन्द्रराजा कद बरसलो रे।।

गायक / परहक – रमेश प्रजापत टोंक।


इस भजन को शेयर करे:

अन्य भजन भी देखें

करता दंडोता आवे भगत थारे दर्शन ने आवे माजीसा भजन

करता दंडोता आवे भगत थारे दर्शन ने आवे माजीसा भजन

करता दंडोता आवे, भगत थारे दर्शन ने आवे, करता दंडोता आवें, भगत थारे दर्शन ने आवे, मोतीया वाली माता थारी, ओ मोतीया वाली माता थारी, जय जयकार सुनावे, करता दंडोता…

काया नगर रे बीच में रे लेहरीया लंबा पेड खजूर भजन लिरिक्स

काया नगर रे बीच में रे लेहरीया लंबा पेड खजूर भजन लिरिक्स

काया नगर रे बीच में रे, लेहरीया लंबा पेड खजूर, चढे तो मेवा चाकले रे, चढे तो मेवा चाकले रे, पडे तो चकनाचूर, भजन मे सुभरमना रे, लेहरीया हरी सु…

माता आयो मैं जसोल नगरी माय दर्शन देवोनी म्हारी मावडी

माता आयो मैं जसोल नगरी माय दर्शन देवोनी म्हारी मावडी

माता आयो मैं जसोल नगरी माय, दर्शन देवोनी म्हारी मावडी, ओ बीरा लेवो भटियाणी माँ रो नाम, दुखडा काटेला म्हारी मावडी, बीरा लेवो भटियाणी माँ रो नाम, दुखडा काटेला म्हारी…

मैं हूँ तेरा ऐसा भिखारी पड़ा रहूं बस तेरे द्वार भजन लिरिक्स

मैं हूँ तेरा ऐसा भिखारी पड़ा रहूं बस तेरे द्वार भजन लिरिक्स

मैं हूँ तेरा ऐसा भिखारी, पड़ा रहूं बस तेरे द्वार, और कहाँ मैं जाऊं सांवरे, कौन करेगा ऐसे प्यार, मै हूँ तेरा ऐसा भिखारी, पड़ा रहूं बस तेरे द्वार।। तर्ज…

Bhajan Lover / Singer / Writer / Web Designer & Blogger.

Leave a Comment

error: कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इंस्टाल करे