हम कई जाणा सिपाही संत सिंगाजी भजन लिरिक्स

हम कई जाणा सिपाही संत,
कई जाणा सिपाही संत,
वो निकल्या बड़ा गुणवंत,
कई जाणा सिपाही संत।।



कोई कहे भाई युक्ति जाणे,

मार दिया कोई मंत्र,
कई जाणा सिपाही संत,
हम कईं जाणा सिपाही संत।।



कोई कहे ये ध्यान करत है,

बैठ्यो है कोई संत,
कई जाणा सिपाही संत,
हम कईं जाणा सिपाही संत।।



नगर मेटावल कहे राणा से,

तम सिखलीजो कोई मंत्र,
कई जाणा सिपाही संत,
हम कईं जाणा सिपाही संत।।



हम कई जाणा सिपाही संत,

कई जाणा सिपाही संत,
वो निकल्या बड़ा गुणवंत,
कई जाणा सिपाही संत।।

प्रेषक – घनश्याम बागवान।
सिद्दीकगंज 7879338198


इस भजन को शेयर करे:

सम्बंधित भजन भी देखें -

हे प्रभु आनंद दाता ज्ञान हमको दीजिये प्रार्थना लिरिक्स

हे प्रभु आनंद दाता ज्ञान हमको दीजिये प्रार्थना लिरिक्स

हे प्रभु आनंद दाता, ज्ञान हमको दीजिये, शीघ्र सारे दुर्गुणों को, दूर हमसे कीजिए।। लीजिये हमको शरण में, हम सदाचारी बने, ब्रह्मचारी धर्म रक्षक, वीर व्रत धारी बने, हे प्रभू…

Bhajan Lover / Singer / Writer / Web Designer & Blogger.

Leave a Comment

error: कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इंस्टाल करे