हो हमारे श्याम ऐसे करम तेरा ही बनु लूँ जब जनम लिरिक्स

हो हमारे श्याम ऐसे करम,
तेरा ही बनु लूँ जब जनम,
चाहे खुशियां मिले चाहे ग़म,
होगी चाहत कभी ना ये काम,
हो हमारें श्याम ऐसे करम,
तेरा ही बनु लूँ जब जनम।।

तर्ज – तुझे देखा तो ये।



मिलती रहे तेरी मुझे,

किरपा की यूँ छाँव रे,
बंधन कभी टूटे नहीं,
हम दोनों का ओ सांवरे,
देखते देखते सांवरे बंध गए,
प्यार की डोर से तेरे हम,
हो हमारें श्याम ऐसे करम,
तेरा ही बनु लूँ जब जनम।।



तुमसे जुडी ये ज़िन्दगी,

तुमसे ही दुनिया मेरी,
जो कुछ मेरा सब है तेरा,
तुझमे ही खुशिया मेरी,
तूने एहसान कितने किये सांवरे,
सोच हो जाती है आँखें नम,
हो हमारें श्याम ऐसे करम,
तेरा ही बनु लूँ जब जनम।।



सेवा तेरी मंज़िल मेरी,

तू ही मेरी आराधना,
मुझको मिली तेरी नौकरी,
हो गई पूरी कामना,
चाकरी तेरी ‘कुंदन’ की ओ सांवरे,
बन गयी है ये पहला धरम,
हो हमारें श्याम ऐसे करम,
तेरा ही बनु लूँ जब जनम।।



हो हमारे श्याम ऐसे करम,

तेरा ही बनु लूँ जब जनम,
चाहे खुशियां मिले चाहे ग़म,
होगी चाहत कभी ना ये काम,
हो हमारें श्याम ऐसे करम,
तेरा ही बनु लूँ जब जनम।।

Singer – Gajender Sharma


आपको ये भजन कैसा लगा? कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इनस्टॉल कीजिये।

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें