हाज़री लिखवाता हूँ हर ग्यारस में भजन लिरिक्स

हाज़री लिखवाता हूँ हर ग्यारस में,
मिलती है तन्खा, मिलती है तन्खा,
मुझे बारस में,
हाज़री लिखवाता हूँ हर ग्यारस में।।



दो दिन के बदले में तीस दिनों तक मौज करूँ,

अपने ठाकुर की सेवा भजनो से रोज करूँ,
रहता है तू सदा, रहता है तू सदा,
भक्तो के वश में,
हाज़री लिखवाता हूँ हर ग्यारस में।।



दो आंसू जब बह जाते है चरणों में तेरे,

करता घर की रखवाली जाकर तू घर मेरे,
झूठी ना खाता हूँ, झूठी ना खाता हूँ,
दर पे मैं कस्मे,
हाज़री लिखवाता हूँ हर ग्यारस में।।



दुनिया की सब मौजे छूटे ग्यारस न छूटे,

श्याम के संग हरबार तेरे दर की मस्ती लुटे,
मिल गया तू मुझे, मिल गया तू मुझे,
भजनो के रस्मे,
हाज़री लिखवाता हूँ हर ग्यारस में।।



हाज़री लिखवाता हूँ हर ग्यारस में,

मिलती है तन्खा, मिलती है तन्खा,
मुझे बारस में,
हाज़री लिखवाता हूँ हर ग्यारस में।।

स्वर – संजय मित्तल जी।


इस भजन को शेयर करे:

अन्य भजन भी देखें

सांवरिया मोरी नैया तरा दे भजन लिरिक्स

सांवरिया मोरी नैया तरा दे भजन लिरिक्स

सांवरिया मोरी नैया तरा दे, नैया तरा दे पार लगादे।। नंद नाई सदन कसाई, भई मस्तानी मीरा बाईं, ऐसा ही मुझे मस्त बनादे, साँवरिया मोरी नैया तरा दे, नैया तरा…

शादी करा दे मेरी राधा के साथ भजन लिरिक्स

शादी करा दे मेरी राधा के साथ भजन लिरिक्स

शादी करा दे मेरी राधा के साथ, सेवा करेगी तेरी दिन और रात, शादी करा दे मेरी राधा के साथ, विनती करूँ माँ तेरे जोड़ूँ मैं हाथ, विनती करूँ माँ…

मेरे दिल को चुराए जाए कजरारे तेरे नैन भजन लिरिक्स

मेरे दिल को चुराए जाए कजरारे तेरे नैन भजन लिरिक्स

मेरे दिल को चुराए जाए, कजरारे तेरे नैन, कजरारे तेरे नैन, मतवारे तेरे नैन, मेरे होश उड़ाए जाए, तेरे कजरारे नैन, कजरारे तेरे नैन, मतवारे तेरे नैन, मेरे दिंल को…

Bhajan Lover / Singer / Writer / Web Designer & Blogger.

1 thought on “हाज़री लिखवाता हूँ हर ग्यारस में भजन लिरिक्स”

Leave a Comment

error: कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इंस्टाल करे