गुरू दयालू होते है बड़े भोले होते है भजन

गुरू दयालू होते है बड़े भोले होते है

गुरू दयालू होते है,
बड़े भोले होते है,
मिली गुरू की शरण वो,
किस्मत वाले होते है।।

तर्ज – प्यार दिवाना होता है।



किसी दास को जब कोई,

सताता है ग़म,
नही देख सकते गुरुवर,
उनकी आँखे नम,
वो दयालू भक्तो के ग़म,
खुद ही सहते है,
मिली गुरू की शरण वो,
किस्मत वाले होते है।।



भक्तो के कारण गुरू ने,

लिया अवतार,
हरते जीवो के दुखड़े,
और भव से करते पार,
करते खास कृपा जब,
सतगुरू मौज मे होते है,
मिली गुरू की शरण वो,
किस्मत वाले होते है।।



श्री सतगुरू की जग मे,

महिमा अपार,
साँचा नाम है गुरू का,
साँचा दरवार,
सच्चा सँत जहाँ मे कोई,
बिरले होते है,
मिली गुरू की शरण वो,
किस्मत वाले होते है।।



गुरू दयालू होते है,

बड़े भोले होते है,
मिली गुरू की शरण वो,
किस्मत वाले होते है।।

– भजन लेखक एवं प्रेषक – 
शिवनारायण वर्मा, 
मोबा.न.8818932923

वीडियो अभी उपलब्ध नहीं।


 

आपको ये भजन कैसा लगा ? अपने विचार बताएं

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें