गिरधर मेरे मौसम आया धरती के श्रृंगार का भजन लिरिक्स

गिरधर मेरे मौसम आया,
धरती के श्रृंगार का।

दोहा – छाई सावन की है बदरिया,
और ठंडी पड़े फुहार,
जब श्याम बजाई बांसुरी,
झूलन चली ब्रजनार।

गिरधर मेरे मौसम आया,
धरती के श्रृंगार का,
आया सावन पड़ गए झूले,
बरसे रंग बहार का,
गिरधर मेरे मौसम आया।।

तर्ज – हमदम मेरे मान भी जाओ।



ग्वाल बाल संग गोपियाँ,

राधा जी आई,
आज तुम्हे कहो कौन सी,
कुब्जा भरमाई,
मिलन की चाह में,
तुम्हारी राह में,
बिछाएं पलके बैठी है,
तुम्हारी याद सताती है,
गिरधर मेरे मोसम आया,
धरती के श्रृंगार का,
आया सावन पड़ गए झूले,
बरसे रंग बहार का,
गिरधर मेरे मौसम आया।।



उमड़ घुमड़ काली घटा,

शोर मचाती है,
स्वागत में तेरे सांवरा,
जल बरसाती है,
कोयलिया कूकती,
मयूरी झूमती,
तुम्हारे बिन मुझको मोहन,
बहारे फीकी लगती है,
गिरधर मेरे मोसम आया,
धरती के श्रृंगार का,
आया सावन पड़ गए झूले,
बरसे रंग बहार का,
गिरधर मेरे मौसम आया।।



राधा जी के संग में,

झूलो मन मोहन,
छेड़ रसीली बांसुरी,
शीतल हो तन मन,
बजाओ बांसुरी,
खिले मन की कली,
मगन ‘नंदू’ ब्रज की बाला,
तुम्हे झूला झूलाती है,
गिरधर मेरे मोसम आया,
धरती के श्रृंगार का,
आया सावन पड़ गए झूले,
बरसे रंग बहार का,
गिरधर मेरे मौसम आया।।



गिरधर मेरे मौसम आया,

धरती के श्रृंगार का,
आया सावन पड़ गए झूले,
बरसे रंग बहार का,
गिरधर मेरे मौसम आया।।

स्वर – श्री लखबीर सिंह लख्खा जी।
रचना – नंदू जी शर्मा।


इस भजन को शेयर करे:

अन्य भजन भी देखें

हमें श्याम तुमसे बहुत प्यार है भजन लिरिक्स

हमें श्याम तुमसे बहुत प्यार है भजन लिरिक्स

हमें श्याम तुमसे बहुत प्यार है, तेरे सिवा कुछ भी ना, तेरे सिवा कुछ भी ना दरकार है, हमें श्याम तुमसें बहुत प्यार है।। तर्ज – बहुत प्यार करते है।…

तेरी कृपा से ही चले परिवार सांवरे भजन लिरिक्स

तेरी कृपा से ही चले परिवार सांवरे भजन लिरिक्स

तेरी कृपा से ही चले, परिवार सांवरे, तेरे भरोसे पे पले, घर बार सांवरे, तेरी कृपा से ही चलें, परिवार सांवरे।। रखी सदा ही आपने, इज्जत गरीब की, बदली सदा…

म्हारे घर आ बाबा तू दरश दिखा बाबा लिरिक्स

म्हारे घर आ बाबा तू दरश दिखा बाबा लिरिक्स

मन बागा रा मोरिया, बाबा के द्वारे जा, इतनो सो संदेशो म्हारे, बाबा ने बतला, रस्तो तेरो तकता तकता, सारी उमर गुजारी, आजा बाबा एक बार आजा, कर लीले की…

Bhajan Lover / Singer / Writer / Web Designer & Blogger.

Leave a Comment

error: कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इंस्टाल करे