डोर ने दातडलो लिनो हाथ धारू जूना जोढा मे आयो रे

डोर ने दातडलो लिनो हाथ,
धारू जूना जोढा मे आयो रे हा,
धारूँ जूना जोढा मे आयो रे हा,
भारो बांध्यो रे हरिया घास रो रे,
धारूँ मेवानगर मे आयो रे हा,
भाई नागर बेल बांधी रे हा।।



बोयोटा सु धारूँ हालियो रे,

ओतो मेवानगर मे आयो रे हा,
धारूँ मेवानगर मे आयो रे हा,
ओ भरी कचेडी रावलमाल री रे,
मूजरो धारूँ वालो मानो रे हा,
मूजरो धारूँ वालो मानो रे हा।।



भारो लायो है हरिया घास रो रे,

भारो कटोडे मै नाकु रे हा,
भारो कटोडे मै नाकु रे हा,
ए थोडो नेको रे घोडा हंसला ने,
थोडो पाड़ा गाय तानी रे हा,
थोडो पाड़ा गाय रे तानी रे हा।।



ओ ऊपर सु रूपारानी देख्या रे,

बीरा ने काम कुण करावे रे हा,
बीरा ने काम कुण करावे रे हा,
ओ नक सु फडावु ज्यारी खालडी रे,
माई शेमर वालो लून रे हा,
गालू शेमर वालो लून रे हा।।



ओ कोप मत करजो रूपा बहनडी रे,

मै तो घर रा कामा सु आयो रे हा,
मै तो घर रा कामा सु आयो रे हा,
ओ गुरूजी पधार्या म्हारे आंगने रे,
थाने वायक लेवा आयो रे हा,
रूपा ने वायक लेवा आयो रे हा।।



ओ बीज ने तो शनिवार रो रे,

गुरूजी जमलो जगावे रे हा,
गुरूजी जमलो जगावे रे हा,
ओ धारूँ बीरा री सुनलो विनती रे,
बेनड जमले पधारो रे हा,
बेनड जमले पधारो रे हा।।



डोर ने दातडलो लिनो हाथ,

धारू जूना जोढा मे आयो रे हा,
धारूँ जूना जोढा मे आयो रे हा,
भारो बांध्यो रे हरिया घास रो रे,
धारूँ मेवानगर मे आयो रे हा,
भाई नागर बेल बांधी रे हा।।

गायक – श्याम पालीवाल जी।
प्रेषक – मनीष सीरवी।
(रायपुर जिला पाली राजस्थान)
9640557818


इस भजन को शेयर करे:

अन्य भजन भी देखें

सांवरा थारी माया रो पायो कोनी पार भजन लिरिक्स

सांवरा थारी माया रो पायो कोनी पार भजन लिरिक्स

सांवरा थारी माया रो, पायो कोनी पार। श्लोक – मीरा जन्मी मेड़ते, वा परणाई चित्तोड़, राम भजन प्रताप सु, वा सकल श्रुष्टि सिरमोड, सकल सृष्टि सिरमोड जगत में, सारा जानिए,…

बस थारे नाम की चाहिए मने सपोर्ट मारा राडाजी लिरिक्स

बस थारे नाम की चाहिए मने सपोर्ट मारा राडाजी लिरिक्स

ना मांगू मैं धन दौलत, ना ही वोट मारा राडाजी, बस थारे नाम की चाहिए, मने सपोर्ट मारा राडाजी।। मारा दिल की बात बताऊ, सुनले बाबा मारी, सुनजो डोकरा मारी,…

मारग चुनियो रे सत पर चालनो राजा हरिशचंद्र भजन लिरिक्स

मारग चुनियो रे सत पर चालनो राजा हरिशचंद्र भजन लिरिक्स

मारग चुनियो रे सत पर चालनो, ओ राजा हरिचंद। दोहा – सत मत छोड़ो साहिबा, सत छूटा पत जाए, सत्य के बांदी लक्ष्मी, वा फिर मिलेगी आए। मारग चुनियो रे…

कैलाश का भोला लहरी काल परण बा जावेगा लिरिक्स

कैलाश का भोला लहरी काल परण बा जावेगा लिरिक्स

कैलाश का भोला लहरी, काल परण बा जावेगा, काल परनबा जावैगा, भोला काल परण बा जावेगा।। हाथी पे ना जावे व तो, घोड़ा प न जावे, नाड्या पे बैठ कर…

Bhajan Lover / Singer / Writer / Web Designer & Blogger.

Leave a Comment

error: कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इंस्टाल करे