चाहे लाख मुसीबत आए पर मुझको विश्वास है लिरिक्स

चाहे लाख मुसीबत आए,
पर मुझको विश्वास है,
डर की क्या बात है,
बाबा जब साथ है,
डर की क्या बात है,
बाबा जब साथ है।।

तर्ज – वाह वाह क्या बात है।



एक भरोसा है मुझको,

श्याम ही साथ निभाएँगे,
अपने भक्तो के ऊपर,
बाबा प्यार लुटाएँगे,
करके देखो इनसे यारी,
हाथों में ले हाथ है,
डर की क्या बात है,
बाबा जब साथ है,
डर की क्या बात है,
बाबा जब साथ है।।



इनके एक इशारे से,

नैया मेरी चलती है,
इनकी रोटी के टुकडो में,
सारी दुनिया पलती है,
आज फिकर ना कल हो मुझको,
मालिक मेरे साथ है,
डर की क्या बात है,
बाबा जब साथ है,
डर की क्या बात है,
बाबा जब साथ है।।



‘सुरेश राजस्थानी’ तो,

सेवा तेरी पाया है,
सच कहता हूँ श्याम धणी,
ये सब तेरी माया है,
‘रामकुमार’ पे करना हरपल,
खुशियों की बरसात है,
Bhajan Diary Lyrics,
डर की क्या बात है,
बाबा जब साथ है,
डर की क्या बात है,
बाबा जब साथ है।।



चाहे लाख मुसीबत आए,

पर मुझको विश्वास है,
डर की क्या बात है,
बाबा जब साथ है,
डर की क्या बात है,
बाबा जब साथ है।।

Singer – Ram Kumar Lakha


आपको ये भजन कैसा लगा? कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इनस्टॉल कीजिये।

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें