प्रथम पेज प्रकाश माली भजन

प्रकाश माली भजन

Prakash Mali Bhajan

चौसठ जोगणी रे भवानी देवलिये रमजाय भजन लिरिक्स

चौसठ जोगणी रे भवानी, देवलिये रमजाय घूमर घालणि रे भवानी, देवलिये रमजाय।। श्लोक देवा में देवी बड़ी, और बड़ी जगदम्बे माय, लज्जा मोरी राखियो, कीजो म्हारी...

खम्मा खम्मा हो रामा रुणिचे रा धणिया भजन लिरिक्स

खम्मा खम्मा हो रामा रुणिचे रा धणिया, श्लोक - बाज रहया है तंदूरा, बाबा रे दरबार, खम्मा खम्मा गावे है, झांजर री झंकार।। खम्मा खम्मा हो रामा...

राम मेरे घर आना चित्रकूट के घाट घाट पर भीलनी जोवे...

राम मेरे घर आना, श्लोक - चित्रकूट के घाट पर, भई संतन की भीड़, तुलसीदास चन्दन घिसे, तिलक करे रघुवीर।। चित्रकूट के घाट घाट पर, भीलनी जोवे बाट, राम मेरे घर...

मायड़ थारो वो पुत कठे महाराणा प्रताप भजन लिरिक्स

हल्दी घाटी में समर लड़यो, वो चेतक रो असवार कठे? मायड़ थारो वो पुत कठे? वो एकलिंग दीवान कठे? वो मेवाड़ी सिरमौर कठे? वो महाराणा प्रताप कठे? मैं बाचों है इतिहासां में, मायड़ थे...

गणराज विनायक आओ म्हारी सभा में रंग बरसाओ प्रकाश माली भजन

गणराज विनायक आओ, म्हारी सभा में रंग बरसाओ, महाराज विनायक आओ, म्हारी सभा में रंग बरसाओ।। रणत भवन से आवो नी गजानन, संग में रिद्धि सिद्धि ल्यावो, महाराज विनायक...

मरुधर में ज्योत जगाय गयो प्रकाश माली भजन लिरिक्स

मरुधर में ज्योत जगाय गयो, बाबो धोली ध्वजा फहराय गयो, म्हारो साँवरियो बनवारी, बण्यो पचरंग पेचाधारी, भक्ता रे कारण, अजमल घर अवतार लियो, कसुमल केसरीया, बागा रो...

गुरुदेव दया करके मुझको अपना लेना भजन लिरिक्स

गुरुदेव दया करके, मुझको अपना लेना, मैं शरण पड़ा तेरी, चरणों में जगह देना।। करुणानिधि नाम तेरा, करुणा दिखलाओ तुम, सोये हुए भागो को, हे नाथ जगाओ तुम, मेरी नाव भंवर डोले, उसे...

वन में चले रघुराई संग उनके सीता माई भजन लिरिक्स

वन में चले रघुराई, तर्ज- दिल में तुझे बिठाके वन में चले रघुराई संग उनके सीता माई....... राजा जनक की जाई राजा जनक की जाई... 1 ...

सीताराम सीताराम सीताराम कहिये जाहि विधि राखे राम भजन लिरिक्स

सीताराम सीताराम सीताराम कहिये, जाहि विधि राखे राम ताहि विधि रहिये।। ज़िन्दगी की डोर सौंप हाथ दीनानाथ के, महलों मे राखे चाहे झोंपड़ी मे वास दे, धन्यवाद निर्विवाद...

मैं थाने सिवरू गजानन देवा राजस्थानी गणेश भजन लिरिक्स

मैं थाने सिवरू गजानन देवा, वचनों रा पालनहारा जी ओ।। श्लोक - सुंडाला दुःख भंजना, सदा जो वालक वेश, सारों पहले सुमरिये, गवरी नन्द गणेश। मैं थाने सिवरू गजानन देवा, वचनों...

कृष्ण भजन लिरिक्स

फ़िल्मी तर्ज भजन

error: कृपया प्ले स्टोर से \"भजन डायरी\" एप्प डाउनलोड करे।