प्रथम पेज लक्खा जी भजन

लक्खा जी भजन

Lakkha Ji Bhajan

झुले राधा नन्द किशोर सावन का महीना घटायें घनघोर

झुले राधा नन्द किशोर, तर्ज - सावन का महीना। सावन का महीना घटायें घनघोर, आज कदम्ब की डाली, झुले राधा नन्द किशोर।। प्रेम हिंडोले बैठे, श्याम बिहारी, झूला झुलाये सारी, ब्रज की...

श्याम श्री श्याम श्री श्याम जय जय श्याम भजन लिरिक्स

श्याम श्री श्याम, श्रीं श्याम जय जय श्याम।। तर्ज - मंगल भवन अमंगलहारी। नंद के नंदन गोवर्धन धारी, करहू कृपा प्रभु कृष्ण मुरारी। श्याम श्रीं श्याम, श्रीं श्याम जय जय...

मैं तो ओढ़ ओढ़नी श्याम नाम की नाचण लागि रे

मैं तो ओढ़ ओढ़नी, श्याम नाम की। दोहा - ज्यूँ ज्यूँ फागण नीडे आवे, मन म्हारो हर्षावे, दर्शन करस्या श्याम धणी का, याद घणेरी आवे। मैं तो ओढ़ ओढ़नी, श्याम नाम...

मिश्री से भी मीठा नाम तेरा माता भजन लिरिक्स

मिश्री से भी मीठा नाम तेरा, तेरा जी मैया, ऊँचे पहाड़ो पर डेरा डेरा जी, तेरा मंदर सुनहरी शेरावालिये।। तेरे दर्श से माँ अमृत की धारा, हाँ झर झर...

बजी कहाँ श्याम की बाँसुरिया भजन लिरिक्स

बजी कहाँ श्याम की बाँसुरिया, बजी श्याम की बाँसुरिया, बाँसुरिया बाँसुरिया, हाय राम, बजी कहां श्याम की बंसुरिया, ओ बजी श्याम की बाँसुरिया।। ब्रह्मा भूले विष्णु भूले, भूले नारद ज्ञानी, तप करना...

सांझ सवेरे नैन बिछा के राह तकु रघुनन्दन की भजन लिरिक्स

सांझ सवेरे नैन बिछा के, राह तकु रघुनन्दन की, राम आएँगे जग जाएगी, राम आएँगे जग जाएगी, किस्मत मेरे आँगन की, साँझ सवेरे नैन बिछा के, राह तकु रघुनन्दन की।। मुझ...

आई रे हनुमान जयंती आई भजन लिरिक्स

आई रे हनुमान जयंती आई, आयी रे हनुमान जयंती आई, बल बुध्दि और ज्ञान के दाता, अति बलवान जगत विख्याता, जिसने भक्ति राम की पाई, आयी रे हंनुमान जयंती...

बिगड़ी बनाने वाली कष्ट मिटाने वाली भजन लिरिक्स

बिगड़ी बनाने वाली, कष्ट मिटाने वाली, दुनिया में जगदंबे माँ, अपना बनाने वाली, भाग्य जगाने वाली, बस एक जगदंबे माँ, शेरावाली का आज जगराता है, अम्बे रानी का आज जगराता है।। दूर...

गोपाल सूना सूना तुझ बिन ये ब्रज है सारा भजन लिरिक्स

गोपाल सूना सूना, तुझ बिन ये ब्रज है सारा, गोपाल सूना सूना।। दोहा - याद में तेरी कृष्ण मुरारी, जोगन हो गई राधा प्यारी, ढूंढ रही पनघट पे तुमको, रो...

श्याम मुरली तो बजाने आओ भजन लिरिक्स

श्याम मुरली तो बजाने आओ, रूठी राधा को मनाने आओ।। ढूँढती है तुम्हे ब्रज की बाला, रास मधुबन में रचाने आओ, रास मधुबन में रचाने आओ, श्याम मूरली तो...

कृष्ण भजन लिरिक्स

फ़िल्मी तर्ज भजन

error: कृपया प्ले स्टोर से \"भजन डायरी\" एप्प डाउनलोड करे।