हे मुरलीधर छलिया मोहन हम भी तुमको दिल दे बैठे लिरिक्स

1
हे मुरलीधर छलिया मोहन, हम भी तुमको दिल दे बैठे, गम पहले से ही कम तो ना थे, एक और मुसीबत ले बैठे, हे मुरलिधर छलिया मोहन, हम भी...

मेनू अपना बनाया तेरी मेहरबानियाँ भजन लिरिक्स

0
मेनू अपना बनाया, तेरी मेहरबानियाँ, मेनू चरणी लगाया, तेरी मेहरबानियाँ, मेहरबानियाँ तेरी मेहरबानियाँ, मेहरबानियाँ तेरी मेहरबानियाँ, मेनु अपना बनाया, तेरी मेहरबानियाँ।। प्याला प्रेम वाला, जदो दा पिलाया ऐ, इना आँखा विच, तू ही ओ समाया...

लाड़ली श्यामा किशोरी हमारी है भजन लिरिक्स

0
लाड़ली श्यामा किशोरी हमारी है, भोरी भारी अतिसुकुमारी प्यारी है, लाडली श्यामा किशोरी हमारी है।। तर्ज - दिल के अरमा। तीनो लोको पे है इनकी नजरेकरम, तीनो लोको पे...

थाम लो मैं बिखर जाऊंगा मैं बिखर के किधर जाऊंगा लिरिक्स

0
थाम लो मैं बिखर जाऊंगा, मैं बिखर के किधर जाऊंगा।। मुझको कोई शिकायत नही, तेरे बिन मुझको राहत नही, इश्क़ की हद गुजर जाऊंगा, मैं बिखर के किधर जाऊंगा, थामलों...

कजरा बनके बसजा श्याम तू आजा मोरी अखियन में लिरिक्स

0
कजरा बनके बसजा श्याम, तू आजा मोरी अखियन में, आजा मोरी इन अखियन में, बसजा मोरी इन अखियन में, कजरा बनकें बसजा श्याम, तू आजा मोरी अखियन में।। नैनो को...

जय जय श्यामा जय जय श्याम जय जय श्री वृन्दावन धाम

0
जय जय श्यामा जय जय श्याम, जय जय श्री वृन्दावन धाम, जय मथुरा गोकुल गोवर्धन, जय यमुना सेवाकुंज निधिवन, जय जय श्यामां जय जयं श्याम, जय जय श्री वृन्दावन...

भक्त बनता हूँ मगर अधमों का हूँ सरताज भी भजन लिरिक्स

0
भक्त बनता हूँ मगर, अधमों का हूँ सरताज भी, देखकर पाखंड मेरा, हंस पड़े ब्रजराज भी।। कौन मुझसे बढकर पापी, होगा इस संसार में, सुन के पापों कि कहानी, डर गये...

मेरा यार यशोदा कुँवर हो चुका है भजन लिरिक्स

0
मेरा यार यशोदा, कुँवर हो चुका है, वो दिल हो चुका है, जिगर हो चुका है, मेरा यार यशोंदा, कुँवर हो चुका है।। जगत कि सभी, खूबियाँ मैंने छोड़ी, जो दिल था...

बरस रयो आनंद निधिवन में प्रगटे श्री बांके बिहारी लाल लिरिक्स

0
बरस रयो आनंद निधिवन में, प्रगटे श्री बांके बिहारी लाल, बांके बिहारी लाल, प्रगटे कुञ्ज बिहारी लाल, बरस रह्यो आनंद निधिवन में, प्रगटे श्री बांके बिहारी लाल।। कुंजन माहि भयो...

वृंदावन की इन कुंज गलिन में खुशबू बिहारी जी की आती...

1
वृंदावन की इन कुंज गलिन में, वृँदावन की इन कुंज गलीन में, खुशबू बिहारी जी की आती है, मन में समा के मुझे मदहोश बनाके, दर पे बिहारी...

फ़िल्मी तर्ज भजन

कृष्ण भजन लिरिक्स

error: कृपया प्ले स्टोर से \"भजन डायरी\" एप्प डाउनलोड करे।