मैं आरती तेरी गाऊं ओ अम्बे मात भवानी

मैं आरती तेरी गाऊं, ओ अम्बे मात भवानी, मैं नित नित शीश नवाऊं, ओ दुर्गे माँ महारानी।। तर्ज - मैं आरती तेरी गाउँ ओ केशव। है तेरा रूप निराला, सच...

देवि सुरेश्वरि भगवति गंगे श्री गंगा स्त्रोतम

देवि सुरेश्वरि भगवति गंगे, त्रिभुवनतारिणि तरलतरंगे, शंकरमौलिविहारिणि विमले, मम मतिरास्तां तव पदकमले, देवि सुरेश्वरि भगवति गंगे।। भागीरथिसुखदायिनि मातस्तव, जलमहिमा निगमे ख्यातः, नाहं जाने तव महिमानं, पाहि कृपामयि मामज्ञानम्, देवि सुरेश्वरि भगवति गंगे।। हरिपदपाद्यतरंगिणि गंगे, हिमविधुमुक्ताधवलतरंगे, दूरीकुरु...

हे गोपाल कृष्ण करूँ आरती तेरी हिंदी लिरिक्स

हे गोपाल कृष्ण करूँ आरती तेरी, हे प्रिया पति मैं करूँ आरती तेरी, तुझपे ओ कान्हा बलि बलि जाऊं, सांझ सवेरे तेरे गुण गाउँ, प्रेम में रंगी मैं...

सांवल सा गिरधारी भला हो रामा सांवल सा गिरधारी लिरिक्स

सांवल सा गिरधारी, भला हो रामा सांवल सा गिरधारी, भरोसो भारी, हरी बिना मोरी, गोपाल बिना मोरी, सांवल सेठ बिना मोरी, कुण खबर लेवे म्हारी, सांवल सा गिरधारी।। लटपट पाग केशरिया...

श्री गोवर्धन महाराज महाराज तेरे माथे मुकुट विराज रह्यो लिरिक्स

श्री गोवर्धन महाराज महाराज, तेरे माथे मुकुट विराज रह्यो।। तोपे पान चढ़े तोपे फूल चढ़े, तोपे पान चढ़े तोपे फूल चढ़े, तोपे चढ़े दूध की धार, ओ धार, तेरे...

सुखकर्ता दुखहर्ता वार्ता विघ्नाची श्री गणेश आरती लिरिक्स

सुखकर्ता दुखहर्ता वार्ता विघ्नाची, नुरवी पूर्वी प्रेम कृपा जयाची, सर्वांगी सुंदर उटी शेंदुराची, कंठी झळके माळ मुक्ताफळाची, जय देव जय देव जय मंगलमूर्ती, दर्शनमात्रे...

आरती श्री बनवारी की भागवत कृष्ण बिहारी की

आरती श्री बनवारी की, भागवत कृष्ण बिहारी की।। भागवत भगवत मंगल रूप, कथामय मंजुल मधुर अनूप, पितामह मुखरित प्रथम स्वरूप, विराजत नारद मनमय कूप, कृष्ण रसदान,रसिक जन प्राण, करत...

गणपति की सेवा मंगल मेवा आरती लिरिक्स

गणपति की सेवा मंगल मेवा, श्लोक - व्रकतुंड महाकाय, सूर्यकोटी समप्रभाः, निर्वघ्नं कुरु मे देव, सर्वकार्येषु सर्वदा। गणपति की सेवा मंगल मेवा, सेवा से सब विघ्न टरें, तीन लोक तैतिस देवता, द्वार...

ॐ जय जानकीनाथा प्रभु जय श्री रघुनाथा

ॐ जय जानकीनाथा, प्रभु जय श्री रघुनाथा, दोऊ कर जोड़ विनवौं, प्रभु मेरी सुन मेरी बाता, ॐ जय जानकीनाथा।। तुम रघुनाथ हमारे, प्राण पिता माता, तुम हो सजन संघाती, श्री भक्ति मुक्ति...

जय गुरुदेव दयानिधि दीनन हितकारी गुरुदेव आरती

जय गुरुदेव दयानिधि, दीनन हितकारी, स्वामी भक्तन हितकारी, जय जय मोह विनाशक, भव बंधन हारी, ॐ जय जय जय गुरुदेव हरे।। ब्रह्मा विष्णु सदा शिव, गुरु...

कृष्ण भजन लिरिक्स

फ़िल्मी तर्ज भजन

error: कृपया प्ले स्टोर से \"भजन डायरी\" एप्प डाउनलोड करे।