बिजासन मैया लालो देदोनी म्हारी गोद में भजन लिरिक्स

बिजासन मैया लालो देदोनी,
म्हारी गोद में,
नोरता में पैदल आऊं,
ढोकु थारा देश में,
बिजासन मईया लालो देदोनी,
म्हारी गोद में।।

तर्ज – अगर जोर मेरो चाले।



ऊंचा ऊँचा डूंगरा में,

बिजासन दरबार,
पैदल पैदल आवे यात्री,
ढोके नर और नार,
बाँझडली को नाम मिटादे,
कर दे बेड़ा पार रे,
बिजासन मईया लालो देदोनी,
म्हारी गोद में।।



चांदी वालो छत्र चढ़ाऊँ,

और चढ़ाऊँ पालनो,
और कही ना जाउ म्हारी मैया,
थारे आ गई पावणों,
पैदल पैदल आई मैया,
करदे पूरी आस रे,
बिजासन मईया लालो देदोनी,
म्हारी गोद में।।



इंदरगढ़ का डूंगरा में,

बिजासन दरबार,
ऊंची ऊंची पेड़ी मैया,
चढ़यो न उतरयो जाय,
पगा उबानी चढ़ गई मैया,
अब तो सुनले पुकार रे,
बिजासन मईया लालो देदोनी,
म्हारी गोद में।।



एक हाथ त्रिशूल विराजे,

एक हाथ तलवार,
लाल चुनरिया सोवे म्हारी मैया,
सिंह की असवार,
रामचंद्र थारी महिमा गावे,
धरधे सिर पर हाथ रे,
बिजासन मईया लालो देदोनी,
म्हारी गोद में।।



बिजासन मैया लालो देदोनी,

म्हारी गोद में,
नोरता में पैदल आऊं,
ढोकु थारा देश में,
बिजासन मईया लालो देदोनी,
म्हारी गोद में।।

– गायक एवं प्रेषक –
रामचंद्र सुमन जी।
8890040122


इस भजन को शेयर करे:

अन्य भजन भी देखें

साधो भाई अवगत लखियो ना जाई निर्गुण बाणी लिरिक्स

साधो भाई अवगत लखियो ना जाई निर्गुण बाणी लिरिक्स

साधो भाई अवगत, लखियो ना जाई। दोहा – शब्दा मारिया मर गया, शब्दा छोड़या राज, जीण जिण शब्द विचारिया, ज्यारा सरिया काज। कौन जगादे ब्रह्म को, कौन जगादे जीव, कौन…

आसरो बालाजी म्हने थारो थे कष्ट निवारो भजन लिरिक्स

आसरो बालाजी म्हने थारो थे कष्ट निवारो भजन लिरिक्स

आसरो बालाजी म्हने थारो, थे कष्ट निवारो, पधारो म्हारे आंगणिये पधारो, थारी मैं बुलावा जय जय कार।। सालासर में सज्यो है दरबार, अंजनी का लाला दुखियारा दातार, थाने जो धेयावे…

शिव पारवती के गोदी में खेले गणेश भजन लिरिक्स

शिव पारवती के गोदी में खेले गणेश भजन लिरिक्स

शिव पारवती के, गोदी में खेले गणेश। श्लोक – वक्रतुण्ड महाकाय, सूर्यकोटि समप्रभ, निर्विघ्नं कुरु मे देव, सर्वकार्येषु सर्वदा। शिव पारवती के, गोदी में खेले गणेश, गोदी में खेले गणेश,…

थे खाटू मे अवतार लियो श्याम भजन लिरिक्स

थे खाटू मे अवतार लियो श्याम भजन लिरिक्स

थे खाटू मे अवतार लियो, हो अहिलवती थारो लाल अठै, हो लिले रो असवार अठै, ओ भक्ता रो प्रतिपाल अठै, ओ बाबो लखदातार अठै।। तर्ज – मायड़ थारो पूत। मे…

Bhajan Lover / Singer / Writer / Web Designer & Blogger.

Leave a Comment

error: कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इंस्टाल करे