भूल बिसर मत जाना सांवरिया मेरी ओड़ निभाना जी लिरिक्स

भूल बिसर मत जाना सांवरिया,
मेरी ओड़ निभाना जी।।



मोर मुकुट पीताम्बर सोहे,

कुंडल झलकत काना जी,
वृन्दावन की कुञ्ज गलिन में,
मोहन वंशी बजाना जी।।



हमरी तुम से लगन लगी है,

नित प्रति आना जी,
घट घट वासी अंतरयामी,
प्रेम का पंथ निभाना जी।।



जो मोहन मेरो नाम ना जानो,

मेरो नाम दीवाना जी,
हमरे आँगन तुलसी का बिरवा,
जिसके हरे हरे पाना जी।।



जो काना मेरो गाँव न जानो,

मेरो गाँव बरसाना जी,
सूरज सामी पोल हमारो,
चन्दन चौक निसाना जी।।



या तो ठाकुर दरसन दीजो,

नहीं तो लीजो प्राना जी,
मीरा के प्रभु गिरधर नागर,
चरणों में लिपटाना जी।।



भूल बिसर मत जाना सांवरिया,

मेरी ओड़ निभाना जी।।

स्वर – आचार्य सचिदानंदजी एवं संत राजूराम जी।
Upload By – Shrawan khilery
9001553101


इस भजन को शेयर करे:

अन्य भजन भी देखें

सांवरिया री ओलु आवे रे मारे बालपने री सैया रे

सांवरिया री ओलु आवे रे मारे बालपने री सैया रे

सांवरिया री ओलु आवे रे, मारे बालपने री सैया रे, सावरिया री ओलु आवे रे, मारे बालपने री सैया रे, बालपने री सैया रे, मारे नेनी उमर री सैया रे,…

म्हारो कृष्ण कन्हैयो रूठ गयो जी मारवाड़ी भजन लिरिक्स

म्हारो कृष्ण कन्हैयो रूठ गयो जी मारवाड़ी भजन लिरिक्स

म्हारो कृष्ण कन्हैयो रूठ गयो जी, दोहा – कृष्णा रे तू मत जानीयो, तू बिछड्यो मोयजे, जैसे जल बिन माछली, वह तड़प रही दिन रेण। म्हारो कृष्ण कन्हैयो रूठ गयो…

आओ आंगनीये एक बार मारा सार्दुलसिंहजी आप

आओ आंगनीये एक बार मारा सार्दुलसिंहजी आप

आओ आंगनीये एक बार, मारा सार्दुलसिंहजी आप, थोरी घणी करू मनवार, दाता लुल लुल जोडु हाथ, थोरी घणी करू मनवार, दाता लुल लुल जोडु हाथ, आईजो आंगनीये एकबार।। दाता घणी…

Bhajan Lover / Singer / Writer / Web Designer & Blogger.

Leave a Comment

error: कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इंस्टाल करे