भटकते रहेंगे हम तो होके बावरे भजन लिरिक्स

भटकते रहेंगे हम तो होके बावरे,
तेरे बिन जाये कहां ओ सांवरे।।



तेरे भरोसे हमने ये जग छोड़ा,

हे निर्मोही हमसे क्यों मुख मोड़ा,
विरहा जला ना डाले बन आग रे,
तेरे बिन जाये कहां ओ सांवरे।।



तुमने बुलाया हमें बंसी बजाके,

हम चली आई कितने सपने सजाके,
नटखट कन्हैया ऐसे मत भाग रे,
तेरे बिन जाये कहां ओ सांवरे।।



हम हैं तुम्हारे मोहन तू ही हमारा है,

तेरा ही सहारा हमको तेरा ही सहारा है,
श्याम शरण में ले ले यही भाव रे,
तेरे बिन जाए कहां ओ सांवरे।।



भटकते रहेंगे हम तो होके बावरे,

तेरे बिन जाये कहां ओ सांवरे।।

स्वर – श्री श्रीजी महाराज।
प्रेषक – विजय कुमार वर्मा।
मुरादाबाद।